सुकन्या समृद्धि योजना 2022 Sukanya Samriddhi Yojana (SSY)

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 Sukanya Samriddhi Yojana (SSY)

भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मिशन के तहत प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना 2022 की शुरुआत की है। अगर आपके घर भी छोटी बेटी है तो यह योजना खास आपके लिए ही है।
सुकन्या समृद्धि योजना 2022 में निवेश करके आप बेटी के भविष्य की पढ़ाई, विवाह आदि की चिंता से मुक्त हो सकते हैं। यह योजना बच्चियों के भविष्य को सुरक्षित करने वाली एक अच्छी निवेश योजना है।
अगर आप भी अपनी बेटी के नाम SSY खाता खोलना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।
इस आलेख में आगे हम आपको सुकन्या समृद्धि योजना 2022 क्या है? इस योजना के उद्देश्य क्या हैं? इसके लाभ क्या हैं? सुकन्या समृद्धि योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या हैं? पात्रता क्या है?
तथा सुकन्या समृद्धि योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है? आदि प्रश्नों के बारे में विस्तार से जानेंगे।

◆ सुकन्या समृद्धि योजना 2022 क्या है?

प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना बेटी के भविष्य की चिंताओं से मुक्त करने वाली एक निवेश योजना है। अक्सर समाज में देखा गया है कि लोग बेटी के जन्म के बाद से ही उसके भविष्य को लेकर चिंतित रहते हैं।
ज्यादातर लोगों को यह समझ में नहीं आता है कि पैसे कैसे बचत करें ताकि भविष्य में बेटी की पढ़ाई-लिखाई व विवाह में कोई आर्थिक समस्या का सामना न करना पड़े।
इसी समस्या को देखते हुए देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 4 दिसंबर 2014 को सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) की घोषणा की तथा 22 जनवरी 2015 को इसकी आधिकारिक तौर पर शुरुआत हुई।
यह योजना विशेष रूप से उन निम्न व मध्यम आय वर्ग के लोगों के लिए शुरू की गई है, जो ज्यादा पैसा निवेश किए बिना अपनी बेटी का भविष्य सुरक्षित करना चाहते हैं।
इस योजना के तहत खोले गए खाते में निवेश की गई राशि पर सरकार काफी उच्च ब्याज दर (वर्तमान में 7.6%) देती है। सुकन्या समृद्धि योजना 2022 में अधिकतम 10 वर्ष तक की बेटी के नाम पर न्यूनतम ₹250 से लेकर 1.5 लाख रूपये वार्षिक जमा किया जा सकता है।
जमा की गई राशि पर चक्रवृद्धि ब्याज जोड़कर एकमुश्त राशि बेटी की पढ़ाई या विवाह के समय दिया जाता है। बेटी की उच्च शिक्षा के लिए 18 वर्ष की उम्र के बाद 50% राशि निकाली जा सकती है तथा शेष राशि 21 वर्ष की आयु के बाद विवाह पर निकल सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 के उद्देश्य :

• इस योजना का मुख्य उद्देश्य अभिभावकों को अपनी बेटी की उच्च शिक्षा व विवाह की चिंताओं से मुक्त करना है।
• कई लोग बेटी होने पर उसे अच्छी शिक्षा देने के बजाय सारे पैसे उसकी शादी के लिए जमा करने लगते हैं।
इस वजह से देश में लाखों बेटियाँ उच्च शिक्षा प्राप्त करने से वंचित रह जाती है। लेकिन सुकन्या समृद्धि योजना से अभिभावक छोटी-छोटी बचत करके अपनी बेटी की अच्छी शिक्षा व विवाह दोनों आसानी से कर पाएंगे।
• कई लोग बेटियों को एक भार समझते हैं और अज्ञानता के चलते भ्रूणहत्या जैसे अपराध भी करते हैं। इस योजना का एक बड़ा उद्देश्य ऐसी भ्रूणहत्याओं को रोकना भी है।
• पहले भी बेटियों के भविष्य के लिए बैंक व बीमा कंपनियों द्वारा कई निवेश योजनाएं चलाई जाती थी लेकिन उनमें प्रीमियम और ब्याज दर अपेक्षाकृत अधिक होता था, जिसकी वजह से निम्न आय वर्ग के लोग निवेश नहीं कर पाते थे।
लेकिन इस योजना में जमा में जाने वाली राशि काफी कम(न्यूनतम ₹250/वार्षिक) होने से कोई भी अभिभावक आसानी से निवेश कर सकता है।
• इस योजना का उद्देश्य समाज में बेटा और बेटी के बीच शिक्षा आदि को लेकर होने वाले भेदभाव को कम करना भी है।

Sukanya Samriddhi Yojana 2022 के लाभ :

• इस योजना का सबसे बड़ा फायदा है कि इसमें निवेश करके बेटी की उच्च शिक्षा व विवाह की चिंताओं से काफी हद तक मुक्त हो सकते हैं।
• सुकन्या समृद्धि योजना में न्यूनतम ₹250 से लेकर अधिकतम 1.5 लाख रूपये तक वार्षिक जमा किया जा सकता है, जिसकी वजह से कम-से-कम आय वर्ग वाले लोग भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
• इस योजना में वर्तमान में 7.6% वार्षिक ब्याज दर मिलती है जो सामान्य बचत खाते और फिक्स डिपॉजिट से अधिक है।
• इस योजना का संचालन 15 वर्ष तक किया जा सकता है। जैसे 9 वर्षीय बेटी के लिए खोले गए सुकन्या खाते में बेटी की आयु 24 वर्ष होने तक पैसे जमा किए जा सकते हैं।
• इस योजना में अगर किसी कारणवश प्रीमियम जमा नहीं कर पाते हैं तो मात्र 50 रूपये की पेनल्टी देकर जमा किया जा सकता है।
• इस योजना में जमा की जाने वाली राशि पर भारत सरकार के आयकर अधिनियम 80C के तहत इन्कमटैक्स पर भी छूट मिलती है। यह छूट अधिकतम 1,50,000 रूपये तक की जमा राशि पर मिलेगी।
• इस योजना का लाभ पोस्ट ऑफिस समेत देश के 28 राष्ट्रीयकृत बैंकों में से भी किसी भी बैंक में जाकर ले सकते हैं।

◆ सुकन्या समृद्धि योजना 2022 के लिए पात्रता :

• इस योजना का लाभ केवल भारतीय नागरिक ही ले सकते हैं।
• एक परिवार में अधिकतम दो बेटियाँ को ही सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ मिलेगा। लेकिन अगर दूसरी बेटी जुड़वां हुई तो दोनों जुड़वां बेटियों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा।
• जिस बेटी के लिए सुकन्या खाता खोला जा रहा हो उसकी आयु 0-10 वर्ष तक होनी चाहिए। 10 वर्ष से अधिक आयु की बच्ची को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
• एक बेटी के लिए केवल एक ही अकाउंट खोला जा सकता है।
• इस योजना के तहत जमा की गई राशि बेटी की आयु 18 वर्ष होने पर अधिकतम 50% और 21 वर्ष होने पर एकमुश्त निकाली जा सकती है।

◆ सुकन्या समृद्धि योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज :

1. बेटी का आधार कार्ड
2. बेटी का जन्म प्रमाणपत्र
3. माता,पिता या अभिभावक (जमाकर्ता) का आधार कार्ड
4. बेटी और जमाकर्ता का पासपोर्ट साइज फोटो
5. जमाकर्ता का आवासीय प्रमाणपत्र
6. पैन कार्ड
7. जुडवां बच्चे की स्थिति में इस संबंध में एक मेडिकल सार्टिफिकेट भी देना होगा।
8. इसके अलावा भी कुछ अन्य दस्तावेजों की मांग बैंक द्वारा की जा सकती है।
◆ सुकन्या समृद्धि योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया Sukanya Samriddhi Yojana Online Apply :
इस योजना के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन प्राप्त जा सकता है। ऑनलाइन आवेदन फॉर्म आपको किसी भी पंजीकृत बैंक की वेबसाइट पर मिल जाएगी। आप चाहें तो गुगल पर Sukanya Samriddhi Yojana Application Form लिखकर सर्च कर सकते हैं।
सर्च करने के बाद पहले लिंक पर क्लिक करके फॉर्म डाउनलोड कर लें और इसका प्रिंटआउट निकाल लें। आप नजदीकी पोस्ट ऑफिस या बैंक जाकर भी इस सुकन्या समृद्धि योजना का फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं। अब इस फॉर्म को अच्छी तरह से भरने के बाद आवश्यक दस्तावेजों के साथ बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा कर दें।
संबंधित अधिकारी फॉर्म की जांच के बाद सबकुछ सही पाए जाने पर आपका सुकन्या अकाउंट खोल देंगे। इसके बाद आप न्यूनतम ₹250 जमा करके इसे चालू कर सकते हैं।
बाद में इसके 100 के गुणक में अधिकतम ₹1,50,000 तक जमा किया जा सकता है। खाता खुलने के बाद समय पर अपनी किश्त भरकर इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
◆ सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) अकाउंट को समय से पूर्व बंद करने की प्रक्रिया क्या है?
सुकन्या समृद्धि योजना खाते से सामान्यतः बालिका की आयु 18 वर्ष होने पर 50% और 21 वर्ष की आयु पर पूरा पैसा निकाला जा सकता है। किन्तु कुछ विशेष परिस्थितियों में SSY अकाउंट पहले भी बंद किया जा सकता है :
1. कन्या की अचानक मृत्यु होने पर – अगर दुर्भाग्यवश जिस कन्या के लिए SSY खाता खोला गया था उसकी मृत्यु हो जाती है तो यह एकाउंट बंद कर दिया जाता है।
इसके लिए उसके अविभावक को एक मृत्यु प्रमाण पत्र देना होता है, जिसके बाद यह अकाउंट हमेशा के लिए बंद कर दिया जाता है तथा सामान्य ब्याज दर जोड़कर पूरी राशि माता-पिता या अभिभावक के अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है।
2. आर्थिक संकट की स्थिति में – अगर कन्या के माता-पिता/अभिभावक किसी आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं और SSY खाते को चलाने में असमर्थ हैं तो समय से पूर्व भी इस खाते को बंद किया जा सकता है।
3. मेडिकल इमरजेंसी में – अगर कोई दुर्घटना हो गई या विशेष मेडिकल इमरजेंसी आ जाए तो इस परिस्थिति में भी SSY खाता बंद किया जा सकता है। इसके लिए बैंक या पोस्ट ऑफिस के संबंधित अधिकारियों को एक आवेदन देना होगा।
इन तीन परिस्थितियों के अलावा भी किसी विशेष परिस्थिति में अगर खाताधारक चाहें तो सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट बंद कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें संबंधित अधिकारियों को एक आवेदन देना होगा।
अधिकारी आवेदन को वेरिफाई करेंगे, उसके बाद SSY अकाउंट बंद कर दिया जाएगा।
प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना 2022 से संबंधित हमेशा पूछे जाने वाले कुछ मह्त्वपूर्ण प्रश्न-उत्तर Sukanya Samriddhi Yojana FAQ :
1. सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत कब हुई थी?
– इस योजना की घोषणा केंद्र सरकार द्वारा 4 दिसंबर 2014 को की गई थी तथा 22 जनवरी 2015 को इसे आधिकारिक तौर पर शुरू किया गया।
2. सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए बेटी की उम्र कितनी होनी चाहिए?
– इस योजना में 0 से अधिकतम 10 वर्ष तक की कन्या के लिए खाता खोला जा सकता है।
3. एक परिवार में कितनी बेटियों के नाम सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोला जा सकता है?
– अधिकतम दो बेटियों के नाम। लेकिन अगर दूसरी बेटी जुड़वां होती है तो उन दोनों जुड़वां बेटियों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा।
4. सुकन्या समृद्धि योजना में न्यूनतम कितना पैसा जमा किया जा सकता है?
– इस योजना में न्यूनतम ₹250 और अधिकतम ₹1.5 लाख तक वार्षिक जमा किया जा सकता है।
5. सुकन्या समृद्धि योजना का खाता कहाँ खुलवाया जा सकता है?
– पोस्ट ऑफिस या रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा पंजीकृत 28 बैंकों में से किसी एक बैंक में जाकर इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
6. सुकन्या समृद्धि योजना के लिए ऑनलाइन अप्लाई कैसे किया जाता है?
– इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा नहीं है। आप पंजीकृत बैंकों की वेबसाइट पर जाकर केवल योजना का आवेदन फॉर्म जमा कर सकते हैं।
7. सुकन्या समृद्धि योजना 2022 में ब्याज दर क्या है?
– इस योजना के तहत खोले गए खाते पर ब्याज दर हर तीन महीने में बदलती रहती है। वर्तमान में यह ब्याज दर 7.6% है।
मुझे उम्मीद है आपको सुकन्या समृद्धि योजना पर ये आर्टिकल पसंद आया होगा। पसंद आया हो तो इसे अपने परिवार और दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें। अगर आपका कोई सुझाव या प्रश्न हो तो कॉमेंट सेक्शन में बताएं।

Leave a Comment