CRED CASE STUDY HINDI | क्रेड क्या है?

CRED CASE STUDY HINDI

क्रेड हमारे देश में एक बहुत ही फेमस और भरोसेमंद फिनटेक एप्लिकेशन है। 2018 के आसपास से ही, क्रेड ने पेटीएम और यूपीआई को टक्कर देते हुए क्रेडिट कार्ड पेमेंट में 35-40% मार्केट पर कब्जा कर लीया है। जहां इन कंपनियों को मार्केट पर कब्जा करने में 5-10 साल लगे, वहीं क्रेड ने 2 साल में ही कर दिखाया।
आइए जानते हैं क्रेड के बिजनेस मॉडल और मार्केटिंग स्ट्रैटेजी को।

सबसे पहले, आइए समझते हैं कि क्रेड क्या है?

क्रेड एक फिनटेक एप्लिकेशन है। फिनटेक एप्लिकेशन एक ऐसी सेवा है जो ऑनलाइन पेमेंट्स को आसान बना देती है। पेटीएम और यूपीआई जैसी ऑनलाइन कम्पनीज ने मार्केट में एक डिजिटल डिस्ट्रपशन फैला दिया। यह नया था और थका देने वाली बैंकिंग सेवा को बदल दिया।

क्रेड रिवार्ड्स और ऑफ़र के बदले में क्रेडिट कार्ड बिल की पेमेंट्स की देता सेवा है। यह नया है, अलग है और लगभग, क्रेड का 60 लाख से अधिक लोग यूज़ करते है।

यह 75०+ के क्रेडिट स्कोर के बाद ही लोगो को अपनी सेवाओं का यूज़ करने देता है। यह क्रेड को सबसे अलग बनाता है और जो नहीं हैं, वे भी समय पर क्रेडिट बिल भुगतान करते हैं। 750 से कम क्रेडिट स्कोर वाले लोग क्रेड का यूज़ करने के लिए अपने क्रेडिट स्कोर को बढ़ाते हैं । यही क्रेड को सबसे अलग बनाता है। साथ ही, यह बाजार में सबसे अच्छे UI/UX एप्लिकेशन में से एक है। क्रेड यूज़ करने के लिए सुरक्षित है क्योंकि यह किसी के डेटा को तीसरी पार्टी को नहीं देता है ।

CRED CASE STUDY HINDI
CRED CASE STUDY HINDI

आइए अब क्रेड के बिजनेस मॉडल को देखें।

क्रेड के बारे में चौंकाने वाली बात यह है कि इसका कोई बिजनेस मॉडल नहीं है। क्रेड मार्केटिंग पर बहुत अधिक निर्भर करता है। ज्यादातर बजट मार्केटिंग पर खर्च होता है।
क्रेड ने अपनी सेवाओं के बारे में लोगो को बताने के लिए मार्केटिंग पर खर्च किया। यह सब जिम सर्भ के एक Ad के साथ शुरू हुआ। जल्द ही, लोगों ने एप्लिकेशन को डाउनलोड और यूज़ करना शुरू कर दिया।

फिर, क्रेड ने भारी Ad देने शुरू कर दिये। उन्होंने जल्द ही अलका याज्ञनिक और कुमार शानू को Ad मे लिया। उन्होंने एक संगीतमय Ad बनाया। Ad सुनने में अच्छा लगता है और लोग कम स्किप करते है।

फिर, क्रेड ने माधुरी दीक्षित, गोविंदा और अनिल कपूर को उनके Ad मे लिया। क्रेड के Ad देखने में काफी मनोरंजक थे।
फिर, क्रेड ने आईपीएल के साथ भागीदारी की। इसे बढ़ावा देने के लिए क्रेड ने राहुल द्रविड़ को Ad मे लिया । Ad लोगों को हँसा देने वाला था और इसे मीम मार्केटिंग के नाम से जाना जाता है। क्रेड जानता है कि वायरल ट्रेंड कैसे करना है और इसके Ads में क्रिंज कंटेंट यूजर्स का ध्यान खींचने के लिए काफी है ।

क्रेड जानता है कि ट्रेंड में कैसे रहना है। तो, क्रेड ने अपने Ad में ओलंपिक विजेता नीरज चोपड़ा को दिखाया। Ad सफल रहा और Youtube पर इसे 16 मिलियन से अधिक बार देखा गया। Ad मजाकिया है और इसमें नीरज चोपड़ा अलग-अलग लुक में हैं। यह Ad सभी का ध्यान लेने के लिए काफी है।

अब सवाल यह उठता है कि इन सब से क्रेड को क्या फायदा हो रहा है।

इतने भारी मार्केटिंग पर खर्च के साथ, क्रेड को हाल ही में 36० करोड़ का नुकसान हुआ है। आइए हम क्रेड की संख्या के बारे में गहराई से जानें। FY 2019 में क्रेड का रेवेनु लगभग शून्य था। लगभग 63 करोड़ खर्च और लगभग 60 करोड़ का नुकसान।

जबकि, FY2020 में, उनके पास 378 करोड़ के खर्च और 360 करोड़ के नुकसान के साथ 52 लाख का रेवेनु था।

यह अच्छे नंबर नहीं, फिर भी 2.2 बिलियन डॉलर के वैल्यूएशन को हिट करने में कामयाब रहे? कैसे?
क्रेड के सफल होने का कारण यह है कि वह मार्केटिंग और Ad पर खर्च करता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह उनके लिए लोगों को लाता है। क्रेड उनके माध्यम से कमाता है और उस पैसे को फिक्स्ड डिपाजिट पर खर्च करता है। उन्हें अच्छा रिटर्न मिलता है।

दूसरा रीज़न क्रेड की बेस्ट सर्विस और UI/UX डिज़ाइन है।
यूएक्स के मामले में सबसे अच्छे होने के कारण क्रेड ने मार्केट में अपना विश्वास बनाया है। उन्होंने दर्शकों और इन्वेस्टर्स से भी विश्वास हासिल किया है। क्रेड के फाउंडर कुणाल शाह भारत के सबसे बड़े एन्त्रेप्रेंयूर्स में से एक है । इससे इन्वेस्टर्स को क्रेड पर विश्वास है। इससे उन्हें अलग अलग समय पर इन्वेस्टर्स से फंडिंग मिली ।

यही कारण है कि क्रेड जैसी कंपनी के पास ज्यादा रेवेनु नहीं होने और घाटे होने के बाद भी 2.2 बिलियन डॉलर का वैल्यूएशन है । सभी बेस्ट सर्विस, डिज़ाइन और मार्केटिंग के कारण।

10 Best Tarike YouTube Video Viral Karneke 2023 | YouTube Video Viral Kaise Kare?

10 Best Blogging Ideas 2023 In Hindi | आपको अपने ब्लॉग पर नई पोस्ट लिखने का आईडिया कैसे लाये, पूरी जानकारी हिंदी में

facebook

Leave a Comment