Tuesday, July 5, 2022
No menu items!

दिव्यांग पेंशन योजना 2022 Divyang Pension Yojana 2022

Must Read

दिव्यांग पेंशन योजना 2022 Divyang Pension Yojana 2022

Table of Contents

भारत सरकार के सहयोग से देश के विभिन्न राज्यों द्वारा दिव्यांग जनों के लिए दिव्यांग पेंशन योजना चलाई जा रही है। इस योजना के तहत शारिरिक रूप से अक्षम, निःशक्त व अपाहिज लोगों को सरकार प्रतिमाह पेंशन के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान करती है।
दिव्यांग पेंशन योजना का उद्देश्य दिव्यांगों (विकलांगों) के जीवन को आसान बनाने के लिए उन्हें आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना है, ताकि छोटी-छोटी जरूरतों के लिए हमेशा दूसरों के सामने हाथ ना फैलाना पड़े। दिव्यांग पेंशन योजना की मासिक पेंशन राशि अलग-अलग राज्यों के लिए अलग-अलग है, जिसका विवरण हम आगे देंगे।
इस आलेख में हम आपको दिव्यांग पेंशन योजना 2022 क्या है? इसके उद्देश्य क्या हैं? इसके लाभ क्या हैं? आवश्यक पात्रता व शर्तें क्या हैं? विकलांग पेंशन योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है? तथा देश के विभिन्न राज्यों में चलाई जा रही दिव्यांग पेंशन योजना, जैसे- उत्तरप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022, मध्यप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022, हरियाणा दिव्यांग पेंशन योजना 2022, राजस्थान दिव्यांग पेंशन योजना 2022 आदि के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

◆ दिव्यांग पेंशन योजना 2022 Divyang Pension Yojana 2022 :

दिव्यांग पेंशन योजना भारत सरकार व राज्य सरकारों के साझा सहयोग से देश के सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में चलाई जा रही है। इस योजना के तहत दी जाने वाली पेंशन राशि अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग है। इस पेंशन योजना का लाभ देने के लिए कुछ राज्यों ने न्यूनतम 40% शारिरिक विकलांगता की शर्त रखी है तो कुछ राज्यों से 60% शारीरिक विकलांगता।
Divyang Pension Yojana 2022 ऐसे लोगों के लिए लाई है, जो शारिरिक रूप में दिव्यांग/विकलांग हैं। प्रायः ये लोग अधिक काम करने के लिए शारीरिक रूप से असमर्थ रहते हैं। इन्हें अपने सामान्य रोजमर्रा की जिंदगी में भी कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।
कई दिव्यांग इसके कारण भिक्षावृत्ति करने लगते हैं। ऐसे ही लोगों के जीवन-यापन को आसान बनाने के लिए केंद्र व राज्य सरकारों के साझा सहयोग से दिव्यांग पेंशन योजना लाई गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य दिव्यांग जनों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना है तथा उन्हें रोजमर्रा की जिंदगी में ज्यादा परेशानियों का सामना न करना पड़े और वह एक सामान्य जीवन व्यतीत कर सकें।
वर्तमान में ज्यादातर राज्यों में विकलांग पेंशन राशि लाभार्थी के अकाउंट में सीधे DBT के माध्यम से ट्रांसफर कर दी जाती है, ताकि बीच में कोई बिचौलिए न आ पाएं और लाभार्थी को योजना का पूरा लाभ मिल सके। कुछ राज्य मासिक पेंशन देते हैं तो कई राज्य तीन महीने या छह महीने में पूरी राशि जोड़कर एकसाथ देते हैं। इस योजना का लाभ आज देश के लाखों दिव्यांग (विकलांग) उठा रहे हैं।

◆ Divyang Pension Yojana 2022 के उद्देश्य :

1. इस योजना का मुख्य उद्देश्य दिव्यांग/विकलांग जनों के जीवन को आसान बनाने के लिए उन्हें आर्थिक मदद करना है।
2. इस योजना का लक्ष्य दिव्यांगों को स्वावलंबी व आत्मनिर्भर बनाना है।
3. कई बार दिव्यांग लोग अपना घर चलाने या अपनी छोटी-मोटी जरूरों को पूरा करने के भिक्षावृत्ति का मार्ग अपना लेते हैं। इस योजना का उद्देश्य इस भिक्षावृत्ति को रोकना भी है।
4. कई लोग शारिरिक रूप से इतने निःशक्त होते हैं कि कम परिश्रम वाले छोटे कामों को भी करने में भी असमर्थ रहते हैं, या उन्हें काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। इस योजना का उद्देश्य ऐसे ही लोगों की मदद करना है।
5. बहुत सारे दिव्यांग जन अपने शारिरिक निःशक्तता की वजह से समाज से पूरी तरह कट जाते हैं और कई मानसिक अवसाद में चले जाते हैं। इस पेंशन योजना का उद्देश्य ऐसे लोगों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ना है, ताकि वो भी सामान्य व्यक्तियों की तरह जी सकें और समाज व राष्ट्र के निर्माण में अपना योगदान दे सकें।

◆ उत्तरप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022 UP Divyang Pension Yojana 2022

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के दिव्यांग (विकलांग) लोगों की आर्थिक मदद करने के उद्देश्य से उत्तरप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022 चलाई जा रही है। सरकार ने इस योजना की शुरुआत इसलिए की है ताकि शारीरिक रूप से निःशक्त लोगों को आत्मनिर्भर बनाया जा सके। इस योजना के तहत लाभार्थी को प्रति माह ₹500 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। पेंशन राशि वर्ष में दो बार छह-छह महीने के अंतराल पर DBT की माध्यम से सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में भेजी जाती है।

● उत्तरप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022 का लाभ लेने के लिए पात्रता व शर्तें क्या हैं?

1. आवेदक दिव्यांग व्यक्ति उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी हो।
2. न्यूनतम आयु 18 वर्ष हो
3. न्यूनतम विकलांगता 40% या उससे अधिक हो
4. आवेदक की सभी श्रोतों से वार्षिक आय ग्रामीण क्षेत्रों के लिए अधिकतम ₹46080 तथा शहरी क्षेत्रों के लिए अधिकतम ₹56460 हो।
5. आवेदक किसी अन्य पेंशन योजना से लाभान्वित न हों।
● UP Divyang Pension Yojana 2022 के आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन-कौन से हैं?
1. आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटो
2. दिव्यांगता/विकलांगता सार्टिफिकेट (जिसमें 40% से अधिक विकलांगता का विवरण हो)
3. आधार कार्ड
4. जन्म प्रमाणपत्र
5. आय प्रमाण पत्र
6. बैंक खाता पासबुक
7. बीपीएल राशनकार्ड
8. ग्रामीण क्षेत्रों के लिए ग्राम सभा द्वारा हस्ताक्षर किया प्रस्ताव तथा शहरी क्षेत्रों के लिए बैंक पासबुक की फोटो कॉपी
9. मोबाइल नंबर

● उत्तरप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022 के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है?

इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र दिव्यांग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन कर सकते हैं। ऑफलाइन आवेदन के लिए अपने ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव या ब्लॉक ऑफिस जा सकते हैं।
ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आप UP Divyang Pension Yojana की आधिकारिक वेबसाइट https://sspy-up.gov.in/HindiPages/handicap_h.aspx पर जाएं। यहाँ आपको “ऑनलाइन आवेदन करें” का विकल्प दिखेगा, इसपर क्लिक करें।
इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक एप्लिकेशन फॉर्म खुलेगा, जिसमें आपको सभी जानकारी भरनी है तथा अपने डॉक्युमेंट्स अपलोड करने हैं। सबकुछ भरने के बाद अंत में Submit पर क्लिक कर दें। इस तरह से आप UP Viklang Pension Yojana के लिए घर बैठे आसानी से आवेदन कर सकते हैं।
आवेदन की स्थिति जानने के लिए पुनः इसी वेबसाइट पर जाकर “आवेदक लॉगिन” विकल्प का उपयोग करके Application Status चेक कर सकते हैं। आप चाहें तो नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) जाकर भी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। किसी विशेष जानकारी के लिए आप टॉल फ्री हेल्पलाइन नंबर 18004190001 पर भी संपर्क कर सकते हैं।
इसे भी पढ़े:

◆ मध्यप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022 MP Divyang Pension Yojana 2022 :

मध्यप्रदेश सरकार ने राज्य के दिव्यांगों (विकलांगों) की आर्थिक सहायता के लिए मध्यप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022 MP Divyang Pension Yojana 2022 लाई है।
इस योजना के तहत शारीरिक रूप से निःशक्त व अपाहिज लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मध्यप्रदेश सरकार प्रति माह ₹500 की पेंशन देती है। इस योजना का उद्देश्य दिव्यांग जनों की की आर्थिक मदद करके उनके रोजमर्रा के जीवन को आसान बनाना है ताकि वो भी सामान्य व्यक्तियों की तरह समाज की मुख्यधारा से जुड़ सकें।

मध्यप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022 MP Divyang Pension Yojana 2022 के लिए आवश्यक शर्तें/पात्रता :

1. आवेदक दिव्यांग मध्य प्रदेश राज्य का स्थायी निवासी हो
2. आयु न्यूनतम 18 वर्ष हो
3. शारीरिक निःशक्तता/विकलांगता न्यूनतम 40% हो
4. परिवार की वार्षिक आय अधिकतम ₹48000 या इससे कम हो
5. किसी अन्य पेंशन योजना का लाभ न उठा रहा हो
6. किसी सरकारी नौकरी में न हो

● मध्यप्रदेश दिव्यांग पेंशन योजना 2022 का लाभ लेने के लिए जरूरी दस्तावेज :

1. आवेदक का आधार कार्ड
2. पासपोर्ट साइज फोटो
3. आवासीय प्रमाण पत्र
4. जन्म प्रमाण पत्र
5. विकलांगता सार्टिफिकेट
6. बैंक खाता पासबुक

● MP Divyang Pension Yojana 2022 के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया :

इस योजना के लिए अगर आप पात्र हैं तो ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन कर सकते हैं। ऑफलाइन आवेदन करने के लिए अपने ग्राम प्रधान, नगरनिगम कार्यालय या ब्लॉक ऑफिस में संपर्क करें। ऑनलाइन आवेदन के लिए आप अपने सभी जरूरी दस्तावेजों के साथ नजदीकी CSC सेंटर जा सकते हैं। आप चाहें तो घर बैठे भी आवेदन कर सकते हैं।
इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट socialsecurity.mp.gov.in पर जाएं। फिर यहाँ आपको “पेंशन हेतु आवेदन करें” का विकल्प दिखेगा। इस पर क्लिक करने के बाद मांगी गई सभी जानकारियां ध्यानपूर्वक भरें और अंत में Submit करें। इस तरह से आप आवेदन करके योजना का लाभ ले सकते हैं। योजना से जुड़ी किसी अन्य जानकारी के लिए आप “सामाजिक न्याय एवं निःशक्त कल्याण विभाग, मध्यप्रदेश सरकार” के हेल्पलाइन नंबर 0755-2556916 पर संपर्क कर सकते हैं।
◆ हरियाणा दिव्यांग पेंशन योजना 2022 Haryana Divyang Pension Yojana 2022 :
हरियाणा सरकार ने अपने राज्य के विकलांग लोगों के लिए हरियाणा दिव्यांग पेंशन योजना 2022 Haryana Divyang Pension Yojana 2022 की शुरुआत की है। इस योजना का उद्देश्य शारीरिक रूप से निःशक्त व असहाय लोगों जो अपनी आजीविका चलाने में असमर्थ हैं, उन्हें जीवन-यापन में मदद करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है। इस योजना के लाभार्थी को ₹2500 रूपये प्रति महीने पेंशन दी जाती है।
● हरियाणा दिव्यांग पेंशन योजना 2022 Haryana Divyang Pension Yojana 2022 के लिए आवश्यक पात्रता शर्तें :
1. आवेदक हरियाणा राज्य का स्थायी निवासी हो
2. आयु न्यूनतम 18 वर्ष हो
3. शारीरिक निःशक्तता/विकलांगता न्यूनतम 60% होने चाहिए
4. आवेदक टैक्स पेयर (करदाता) न हो
5. किसी अन्य पेंशन योजना जैसे-वृद्ध पेंशन आदि का लाभ न उठा रहा हो
6. पोलियो या किसी एक्सीडेंट की वजह से दिव्यांग हुए व्यक्ति भी इस योजना का उठा सकते हैं।

● हरियाणा दिव्यांग पेंशन योजना 2022 के लिए आवश्यक दस्तावेज :

1. आवेदक का आधार कार्ड
2. पासपोर्ट साइज फोटो
3. आवासीय प्रमाण पत्र
4. जन्म प्रमाण पत्र
5. विकलांगता सार्टिफिकेट (जिसमें 60% से विकलांगता लिखा हो)
6. बैंक खाता पासबुक
7. राशन कार्ड

हरियाणा दिव्यांग पेंशन योजना 2022 Haryana Divyang Pension Yojana 2022 में आवेदन करने की प्रक्रिया :

अगर आप इस योजना के लिए पात्र हैं तथा आपके पास ऊपर दिए गए सभी दस्तावेज उपलब्ध हैं तो आप भी Haryana Divyang Pension Yojana 2022 के लिए आसानी से आवेदन कर सकते हैं।
इसके लिए सबसे पहले आपको दिव्यांग पेंशन का फॉर्म डाउनलोड करना होगा। फॉर्म आप “सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग, हरियाणा सरकार” की आधिकारिक वेबसाइट socialjusticehry.gov.in/दिव्यांग-जन-पैंशन/ जाकर डाउनलोड कर सकते हैं।
फॉर्म डाउनलोड करने के बाद इसका प्रिंट आउट निकाल लें। फिर इसे अच्छी तरह भर लें और अपने वार्ड पार्षद,नंबरदार,सरपंच या राजपत्रित अधिकारी में से किसी एक से सत्यापित करवा लें। इसके बाद सभी जरूरी दस्तावेजों के साथ इसे संबंधित विभाग में जाकर जमा कर दें। इस योजना के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप हेल्पलाइन नंबर – 18001802128 या 01722713277 पर संपर्क कर सकते हैं।
●Hrayana Divyang Pension Form PDF Link –
◆ राजस्थान दिव्यांग पेंशन योजना 2022 Rajasthan Divyang Pension Yojana 2022 :
राजस्थान सरकार ने राज्य के दिव्यांगों/विकलांगों की आर्थिक मदद करने के लिए राजस्थान दिव्यांग पेंशन योजना 2022 की शुरुआत की है। इस योजना के तहत राज्य के विकलांगों व निःशक्त जनों को रोजमर्रा की जिंदगी चलाने में सहायता करने के लिए प्रति माह ₹500 पेंशन दी जाती है। इस योजना का लाभ राज्य के शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से विकलांग लोग उठा सकते हैं। इस योजना में पात्र दिव्यांगों को आयु के अनुसार ₹250 से ₹750 तक प्रति माह पेंशन दी जाती है।
● राजस्थान विकलांग पेंशन योजना के तहत मिलने वाली मासिक पेंशन राशि का विवरण :
8 वर्ष से कम उम्र के दिव्यांगों को – ₹250
8 वर्ष से 74 वर्ष तक के दिव्यांगों को – ₹500
75 वर्ष या इससे ऊपर के दिव्यांगों को – ₹750
● राजस्थान दिव्यांग पेंशन योजना 2022 का लाभ लेने के लिए पात्रता व शर्तें :
1. आवेदक राजस्थान का स्थायी निवासी हो
2. सभी आयु वर्ग के लोग इसके लिए आवेदन कर सकते हैं
3. शारीरिक निःशक्तता/विकलांगता न्यूनतम 40% होनी चाहिए
4. आवेदक की वार्षिक आय अधिकतम ₹25000 हो
5. किसी अन्य पेंशन योजना का लाभ न उठा रहा हो
● Rajasthan Divyang Pension Yojana 2022 के लिए जरूरी दस्तावेज :
1. आवेदक का आधार कार्ड
2. दिव्यांगता/विकलांगता सार्टिफिकेट (जिसमें 40% से अधिक विकलांगता का विवरण हो
3. जन्म प्रमाणपत्र
4. आय प्रमाण पत्र
5. पासपोर्ट साइज फोटो
6. बैंक खाता पासबुक
7. राशनकार्ड
Rajasthan Divyang Pension Yojana 2022 राजस्थान दिव्यांग पेंशन योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया :
इस योजना में आवेदन करने के आप अपने जिले के सामाजिक कल्याण विभाग जा सकते हैं। वहाँ आपको विकलांग पेंशन योजना का एक आवेदन फॉर्म मिलेगा। इस फॉर्म को भरकर जरूरी दस्तावेजों के साथ संबंधित विभाग में जमा कर दें। आप इस योजना में ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं।
इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट sje.rajasthan.gov.in पर जाएं। आप चाहें तो नजदीकी CSC केंद्र जाकर भी दिव्यांग पेंशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इस योजना के बारे में किसी विशेष जानकारी के लिए आप हेल्पलाइन नंबर – 18001806127 पर संपर्क कर सकते हैं।
इसे भी पढ़े:
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

Districts of Assam

Districts of Assam There are 33 districts in Assam and the number of villages in Assam is currently 26637, Assam...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img