21.4 C
New York
Tuesday, May 17, 2022

Buy now

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

डिजिटल युग में बढ़ते भारत के लिए सारथी परिवहन सेवा एक बहुत जरूरी सुविधा है। समय का काम नियमित रूप से करना होगा। एक इंसान के लिए उसी गति को पकड़ना बहुत जरूरी है ताकि वह न केवल खुद को बल्कि पूरी दुनिया को प्रगति के शिखर पर ले जा सके।

यह कहना गलत नहीं होगा कि 21वीं सदी टेक्नोलॉजी की है। तेजी से भागती दुनिया में कदम से कदम मिलाकर चलने के लिए नई तकनीक का सहारा लेना बहुत फायदेमंद होता है। टेक्नोलॉजी ने दुनिया को विकसित करने में बड़ा और अहम योगदान दिया, इस टेक्नोलॉजी ने दुनिया को इंटरनेट से परिचित कराया। तकनीक ने ज्यादातर काम बहुत आसान कर दिया है। ऑनलाइन कमाई करना हो या वर्क फ्रॉम होम, सभी काम इंटरनेट से आसानी से संभव है।

दोस्तों इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से आज आप इस इंटरनेट की मदद से ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाना सीखेंगे और इसमें सारथी परिवहन सेवा हमारे लिए कैसे उपयोगी हो सकती है।

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में
ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

सारथी परिवहन सेवा क्या है?

सारथी परिवहन सेवा एक वेबसाइट पर जाने के लिए एक ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस के रूप में कार्य करता है। यह वेबसाइट की सहायता से देश का कोई भी निवासी (जिकी उम्र कम से कम 16 साल या अधिक हो) वह ड्राइविंग लाइसेंस लागू कर सकता है।

एलाइन ड्राइविंग लाइसेंस का नवीनीकरण, कंडक्टर लाइसेंस, लर्नर लाइसेंस के साथ.

जब भारत में हर जगह इंटरनेट उपलब्ध नहीं था, तो ज्यादातर कामों के लिए दलालों की जरूरत होती थी। इन्हीं कार्यों में से एक है ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना। ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आपको उस जिले के आरटीओ और डीटीओ से संपर्क करना होता है जहां आप रहते हैं ताकि आपको लाइसेंस मिल सके।

लेकिन दलालों की वजह से कई लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस के लिए सरकारी कीमत से ज्यादा कीमत चुकानी पड़ती है, इस धोखाधड़ी को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने डिजिटल इंडिया के तहत इस सारथी परिवहन सेवा की शुरुआत की.

ड्राइविंग लाइसेंस क्या है?

ड्राइविंग लाइसेंस एक सरकारी दस्तावेज है जो सरकार द्वारा दिया जाता है ताकि लोग अपने वाहन को आधिकारिक तौर पर देश के किसी भी स्थान पर ले जा सकें। अगर कोई व्यक्ति इस दस्तावेज के बिना गाड़ी चलाते हुए पाया जाता है तो कानून इसे अपराध मानता है। इसलिए ड्राइविंग लाइसेंस होना बहुत जरूरी है।

लेकिन लाइसेंस बनवाने में काफी समय लगता है, आरटीओ में भारी भीड़ के कारण कई लोगों को घंटों लाइन में लगना पड़ता था, जिसके चलते लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने में थोड़ी ढील दी जाती थी. लेकिन अब आराम करने की जरूरत नहीं है क्योंकि अब कहीं से भी इंटरनेट की मदद से ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अप्लाई किया जा सकता है.

ड्राइविंग लाइसेंस कितने प्रकार के होते हैं?

भारत का हर नागरिक जो कहीं भी वाहन चलाना चाहता है, उसे कानून द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करना आवश्यक है। यह कानून मोटर व्हीकल एक्ट 1988 के तहत है। चाहे आपके पास टू व्हीलर हो या 4 व्हीलर। साइकिल के अलावा ड्राइविंग लाइसेंस होना जरूरी है। लोगों की जरूरत के हिसाब से चार तरह के ड्राइविंग लाइसेंस होते हैं।

  • लर्नर लाइसेंस: यह लाइसेंस उनके लिए जरूरी है जो अभी पहली बार कार या बाइक चलाना सीख रहे हैं। इस लाइसेंस की अवधि 6 महीने की होती है। इस लाइसेंस के लिए आवेदन करने के बाद 30 दिनों के लिए स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया जा सकता है। गाड़ी चलाना सीखने के लिए ट्रैफिक नियमों को जानना जरूरी है। इन लाइसेंस धारकों को अपनी कार पर लाल रंग के टेप के साथ अंग्रेजी शब्द ‘एल’ होना चाहिए।
  • निजी वाहनों के लिए स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस: यह ड्राइविंग लाइसेंस उन लोगों को दिया जाता है जिन्होंने ड्राइविंग टेस्ट पूरा कर लिया है और कम से कम 18 वर्ष की आयु के हैं। इसमें मिलने वाला ड्राइविंग लाइसेंस एक तरह के स्मार्ट कार्ड की तरह काम करता है, जिसमें आवेदक की पूरी बायोमेट्रिक डिटेल होती है। जैसे नाम, आयु, स्थायी पता, आदि।
  • वाणिज्यिक वाहनों के लिए स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस: यह लाइसेंस उन लोगों के लिए आवश्यक है जो व्यवसाय के लिए वाहन चलाते हैं अर्थात सार्वजनिक परिवहन कंपनी और परिवहन/कूरियर कंपनी। इसमें ड्राइवर के पास कम से कम 7वीं पास होना जरूरी है.
  • इंटरनेशनल ड्राइविंग परमिट: भारत सरकार ने उन लोगों का भी ध्यान रखा है, जिन्हें लाइसेंस देने में देश से बाहर जाकर किराए का वाहन चलाना पड़ता है या वाहन चलाना पड़ता है। लेकिन इस लाइसेंस के लिए ड्राइवर के पास परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस होना जरूरी है। यह लाइसेंस केवल एक वर्ष के लिए वैध होता है, इसे एक वर्ष के बाद नवीनीकृत करना होता है।

ड्राइविंग लाइसेंस की विभिन्न श्रेणियां

वाहनों के हिसाब से लाइसेंस को अलग-अलग कैटेगरी में बांटा गया है। इस अलग-अलग कैटेगरी के हिसाब से उम्र सीमा भी तय की गई है. बेहतर जानकारी के लिए टेबल शेयर किया गया है।

कैटेगरीलाइसेंस क्लासवाहन टाइप
निजी इस्तेमाल वाली गाड़ियांMC 50CCमोटरसाइकिल जिसमे 50 cc या इससे कम का इंजन हो।
MCWOG/FVGइसमें व्हीकल में इंजन की क्षमता कितनी भी हो सकती है, लेकिन गियर के बिना इस में मोपेड्स आते हैं।

LMV – NT

निजी वाहन जो ट्रांसपोर्ट के लिए न इस्तेमाल होते हों। जैसे निजी कार।
MC EX50CC
इसमें वह मोटरसाइकिल आते हैं जिसमें इंजन की क्षमता 50cc से अधिक हो। इसमें निजी कार भी गिनी जाती है।
MC with Gear/without gearइसमें दोनो तरह की बाइक गिनी जाती है चाहे गियर के साथ हो या बिना गियर के साथ
व्यवसायिक इस्तेमाल के लिएMGVहलके सामानों के ट्रांसपोर्ट के लिए

LMV
कार बाइक इतियादी जो वाहन टैक्सी के रूप में इस्तेमाल होते हैं।
HGMVइसमें ट्रक को शामिल किया जाता है जिसमे भारी सामान जाते हैं।
HPMVइसमें पब्लिक ट्रांसपोर्ट आती हैं जैसे की बस।
ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

प्रत्येक प्रकार के वाहन के लिए मोटर वाहन अधिनियम के तहत चालकों के लिए आयु सीमा भी निर्धारित की गई है। उदाहरण के लिए, गियर वाली मोटरसाइकिल या कार में, ड्राइवर की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।

चालक को भारत के यातायात नियमों की जानकारी होनी चाहिए और उसके पास पहचान प्रमाण भी होना चाहिए। लेकिन अगर बाइक बिना गियर वाली है तो कम से कम 16 साल की उम्र भी मान्य है लेकिन इसके लिए ड्राइवर के माता-पिता की मंजूरी जरूरी है। अलग-अलग राज्यों में कमर्शियल पर्पज लाइसेंस के लिए उम्र अलग-अलग तय की गई है। उदाहरण के लिए, कई राज्यों में आयु सीमा 18 वर्ष है और कई राज्यों में आयु सीमा 20 वर्ष है।

सारथी परिवहन सेवा के लिए आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

पोर्टल में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने से पहले जरूरी दस्तावेजों की व्यवस्था कर लें ताकि बाद में कोई परेशानी या परेशानी न हो। दस्तावेज़ अपलोड करने के लिए फ़ाइल का आकार 200 केबी से अधिक नहीं होना चाहिए। इसे किसी भी आवश्यक दस्तावेज को अपलोड किया जा सकता है। आइए अब जानते हैं कि क्या हैं जरूरी दस्तावेज।

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटिंग आइडेंटी कार्ड
  • बिजली बिल
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदक के हस्ताक्षर
  • फॉर्म – 1 अगर लर्निंग लाइसेंस के लिए अप्लाई कर रहे हैं
  • फॉर्म – 2 अगर परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अप्लाई कर रहे हैं।

ड्राइविंग लाइसेंस शुल्क

Driving License TypesApplication Fees
Learner License Fee₹200
Learner License Renewal Fee₹200
Permanent Driving license Fee₹200
Driving test fee₹300
Driving license renewal fee₹200
International Driving license Fee₹1000
ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

सारथी पोर्टल में ड्राइविंग लाइसेंस लागू करने के चरण

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने के लिए पोर्टल में कुछ चरण निर्धारित किए गए हैं, जो आमतौर पर पोर्टल पर मौजूद सभी सुविधाओं में समान होते हैं, हालांकि कुछ चरणों में बदलाव किया गया है। यह भी आप अगले लेख में जानेंगे।

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में
ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

1) सबसे पहले सरकार द्वारा निर्धारित ऑफिशियल सारथी वेबसाइट पोर्टल पर जाना होगा, डिवाइस में वेबसाईट का Home पेज खुलेगा जिसमें सबसे पहले आपको एक ऑप्शन मिलेगा ‘Drivers/Learners License’ जिसके ठीक नीचे ‘More’ का बटन होगा उसको दबाएं।

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में
ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

2) ब्राउजर के नए टैब में एक पेज खुलेगा जिसमें आपको अपना राज्य चुनना है। राज्य के अनुसार सुविधा प्रदान की जाती है।

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में
ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

4) राज्य का चयन करने के बाद, आपको सारथी परिवहन सेवा में मौजूद सुविधाओं की सूची मिल जाएगी। उनमें से कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में
ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में
  • Apply for Learner License
  • Apply for Driving license
  • Apply for DL renewal
  • Apply for Duplicate DL

5) उस सुविधा पर क्लिक करें जिसके लिए आप आवेदन करना चाहते हैं और उसमें सभी आवश्यक विवरण भरें। पोर्टल में आपके पास जो भी दस्तावेज मौजूद हैं उन्हें अपलोड करें।

6) इस स्टेप में सबसे पहले अपने भरे हुए फॉर्म को सबमिट करने से पहले पूरी तरह से चेक कर लें। सबमिट करने के बाद लाइसेंस शुल्क का भुगतान करना होगा, जो आप UPI, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से कर सकते हैं।

7) भुगतान सत्यापित होने के बाद, आपको भुगतान रसीद मिल जाएगी। आपको इसे अपने डिवाइस में सेव करना होगा। लैपटॉप या कंप्यूटर में सेव करने के लिए ‘विंडो की और प्रिंट स्क्रू’ को एक साथ दबाएं और अगर आप मोबाइल से कर रहे हैं तो अपने मोबाइल के हिसाब से स्क्रीनशॉट लें।

8) आपको जो रसीद मिलेगी उसमें आवेदन संख्या होगी, जिसकी मदद से आप लाइसेंस के लिए स्लॉट बुक कर सकते हैं।

लर्नर लाइसेंस kaise karen लागू करें?


कोई भी नया काम करने से पहले उस खास चीज का ज्ञान होना चाहिए। जैसे इसमें क्या नियम हैं। वाहन कैसे चलाएं, गियर कैसे बदलें, ब्रेक कैसे लगाएं आदि। इसलिए वाहन चलाने से पहले इसे सीखना बहुत जरूरी है। आप सारथी परिवहन सेवा के माध्यम से आसानी से लर्नर लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  1. वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ पर जाएं, ‘ड्राइवर/लर्नर्स लाइसेंस’ के तहत लिखे ‘more’ पर क्लिक करें।
  2. अब जो पेज खुलेगा उसमें अपना राज्य चुनें। जैसे ही आप राज्य का चयन करते हैं, पेज आपको सारथी पोर्टल द्वारा प्रदान की जाने वाली सभी सुविधाओं के नाम दिखाएगा।
  3. इसमें से ‘Apply for Learner license’ पर क्लिक करें। अब जो पेज खुलेगा उसमें आपको Application Submission Stages को 7 चरणो में बताया गया है।
  4. यही वही stages हैं जो आपको मेंशन किए गए हैं। उसके ठीक नीचे continue का ऑप्शन है उसपर क्लिक करें।
  5. अब नए पेज पे आवेदक कर्ता की कैटेगरी पूछी जाएगी मतलब की डिप्लोमेट हैं, फॉरेनर हैं, विकलांग हैं या जनरल कैटेगरी से बिलॉन्ग करते हैं। अपने कैटेगरी अनुसार उसमें drop down में से सिलेक्ट कर लें। साथ ही नीचे दिए गए ऑप्शन में से Applicant does not hold any Driving/Learner License issued in India इसी को सिलेक्ट रहने दें।
  6. इसके बाद आपको एक न्यू पेज पर फॉर्म खुल जाएगा जिसमें आपसे कुछ जरूरी डिटेल्स पूछी जाएंगी उसको अच्छे से भरें। ध्यान रखें की जिस डिटेल्स के ऊपर लाल रंग का ‘*’ वाला निशान होगा उसे जरूर भरना है क्योंकि उसके बिना आप अगले पेज पर नहीं जा पाएंगे।
  7. डिटेल्स सबमिट करने के बाद अगले पेज पर document upload करना होता है। अपलोड किए हुए दस्तावेज तय डाइमेंशन के तहत ही होना चाहिए और फोटो धुंधली नहीं होनी चाहिए।
  8. इसके बाद पेमेंट के लिए पेज ओपन होगा जिसमें आप पेमेंट UPI, Debit card, Credit card, Net Banking में से कोई भी एक ऑप्शन चुन कर पेमेंट कर सकते हैं। पेमेंट सक्सेस होने के बाद डिस्प्ले स्क्रीन पर रिसिप्ट दिखेगी उसको प्रिंट करलें या स्क्रीनशॉट लेकर सेव करलें।
  9. फिर प्राप्त हुए रिसिप्ट में एप्लीकेशन नंबर होगा उससे अपने हिसाब से लर्निंग लाइसेंस के लिए स्लॉट बुक कर पाएंगे।

स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस kaise लागू करें?

इस लाइसेंस को प्राप्त करने के लिए आपको सबसे पहले जो स्टेप फॉलो करना होगा वो है लर्नर लाइसेंस के दौरान जो आप पढ़ते हैं यानि सबसे पहले सारथी ई-पोर्टल पर जाएं वहां ड्राइवर / लर्नर लाइसेंस के नीचे लिखे मोर पर क्लिक करें। अगले पेज पर राज्य का चयन करें। अन्य स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस kaise लागू करें? हिंदी में स्टेप बाय स्टेप गाइड का पूरा उत्तर निम्नलिखित है।

  1. राज्य चुनने के बाद अब उपलब्ध सुविधाओं में से ऑप्शन ‘Apply for Driving license’ को चुनें।
  2. आपके सामने वेबसाइट पर कुछ स्टेप्स दिखाए जाएंगे जिससे Driving license Apply करने में हेल्प मिल सकती है। इसके नीचे Continue के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  3. अगले पेज पर आपके पास चुनने के लिए तीन ऑप्शन होंगे जैसे की holding learner’s license, Holding Foreign DL और Holding Defense License. ऐसा इसीलिए क्योंकि कानून के तहत चालक को तभी परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस तभी मिल पाएगा अगर उसके पास लर्निंग लाइसेंस हो या foreign Driving license हो। ध्यान रहें की लर्निंग लाइसेंस कम से कम एक महीने पुराना होना ज़रूरी है। तभी Permanent Driving license Apply किया जा सकता है।
  4. जो भी ऑप्शन आप चुनेंगे उसकी डिटेल्स भी जरूर भरें जैसे की लर्नर लाइसेंस का नंबर और अपनी सबमिट की हुई जन्म तारीख। इस डिटेल्स को भरने के बाद ok बटन पर क्लिक करें।
  5. इसके अगले पेज पर फॉर्म पेज खुल जाएगा जिसमें आवेदक कर्ता को डिटेल्स भरनी होगी और जरूरी दस्तावेज अपलोड करना होगा।
  6. फॉर्म भरने के बाद ड्राइविंग लाइसेंस शुल्क भरें और प्राप्त हुई रिसिप्ट को संभालकर रखें जब तक लाइसेंस बन कर तैयार नहीं हो जाता।

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस का renewal कैसे करें?

ड्राइवरों के लिए ड्राइविंग लाइसेंस होना बहुत जरूरी है, लेकिन रोजमर्रा की भागदौड़ भरी जिंदगी में वे यह जांचना भूल जाते हैं कि ड्राइविंग लाइसेंस की वैधता अवधि खत्म हुई है या नहीं? और कुछ लोगों को यह भी नहीं पता होता है कि ड्राइविंग लाइसेंस की भी एक एक्सपायरी डेट होती है।

आपको बता दें कि ड्राइविंग लाइसेंस की वैधता अवधि 20 वर्ष है या आवेदक की आयु 50 वर्ष तक पहुंचने तक, जो भी पहले हो, समाप्ति तिथि तक माना जाता है। लेकिन अगर आवेदक ने कमर्शियल व्हीकल का लाइसेंस लिया है तो वैलिडिटी 3 साल तक रहती है।

अब जानते हैं Online Driving licence renewal kaise kare step by step guide:

  1. सबसे पहले वही स्टेप्स को फॉलो करें जो लर्निंग लाइसेंस और ड्राइविंग लाइसेंस को अप्लाई करने के दौरान किया था।
  2. राज्य को सिलेक्ट करने के बाद उपलब्ध सुविधाओं में से तीसरा ऑप्शन “Apply for DL Renewal” पर सिलेक्ट करें।
  3. अगले पेज पर स्टेजेस फॉर एप्लीकेशन मेंशन होगा और पेज के आखिर में फॉर्म 1-A को download का ऑप्शन होगा यह फॉर्म जरूर डाउनलोड करें अगर आवेदक कर्ता की उम्र 40 वर्ष या इससे अधिक है।
  4. उसके बाद continue ऑप्शन पर क्लिक करें इसमें अब आपको ड्राइविंग लाइसेंस नंबर और जन्म तारीख डालना होगा।
  5. Get DL Details पर क्लिक करने के बाद आवेदक कर्ता की पूर्ण डिटेल सामने आ जाएगी। आपको कन्फर्म करना होगा की वह डिटेल्स सही हैं। इसके लिए Yes सिलेक्ट करें। साथ ही आरटीओ ऑफिस, पिन कोड और स्टेट डालकर प्रोसीड बटन पर क्लिक करें इससे आप वेरिफाई कर सकते हैं की वह DL Details आप ही की थी।
  6. Driving license Renewal Form में सही से जानकारी देने के बाद पेमेंट करने के बाद आपका ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यू होकर आ जाएगा। ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाएं Step by Step Guide हिंदी में

दोस्तों इस तरह आप सारथी परिवहन सेवा के माध्यम से आसानी से ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बना सकते हैं। दस्तावेजों को अपने पास तैयार रखें और इन दिए गए चरणों के साथ ड्राइविंग लाइसेंस लागू करें और अगर आपको कोई समस्या है तो कृपया कमेंट बॉक्स में पूछें हमें आपकी मदद करने में खुशी होगी।

शुक्रिया Achejanjari

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

6,791FansLike
6,391FollowersFollow
3,699SubscribersSubscribe

Latest Articles