Wednesday, October 5, 2022
No menu items!

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल हरियाणा क्या है? 2022

Must Read

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल हरियाणा क्या है?

मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा | Meri Fasal Mera byora Haryana Status Check | Meri Fasal mera byora Registration 2022 
हरियाणा सरकार ने राज्य के किसानों की मदद करने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा Meri Fasal Mera Byora की शुरुआत की है। इस पोर्टल के माध्यम से किसान फसल पंजीकरण, खाद-बीज व कृषि उपकरणों पर सब्सिडी, फसल के बारे में सभी जानकारी तथा मंडी में फसल की खरीद-बिक्री आदि सुविधा प्राप्त कर सकते हैं। इस आलेख में आगे हम मेरी फसल मेरा ब्यौरा क्या है? इसके उद्देश्य व लाभ क्या हैं? Meri Fasal mera byora Registration 2022 की प्रक्रिया क्या है? स्टेटस चेक कैसे किया जाता है? आदि सभी जानकारियां बताएंगे। इसके लिए इस लेख को पूरा अवश्य पढ़ें।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा (हरियाणा) पोर्टल क्या है?

हरियाणा सरकार ने किसानों को मिलने वाली योजनाओं, सुविधाओं और जानकारियों को हर राज्य के प्रत्येक किसान तक आसानी से पहुंचाने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल की शुरुआत की है। इस ऑनलाइन पोर्टल का शुभारंभ हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने 4 जुलाई 2019 को की थी।
इस पोर्टल पर किसानों को खाद-बीज पर मिलने वाली सब्सिडी, कृषि उपकरणों पर सब्सिडी, कृषि ऋण, सिंचाई-बुआई का समय, फसल बीमा, किसान पंजीकरण, फसल पंजीकरण, मंडी आदि  जानकारी दी जाती है। इसके अलावा भी इस पोर्टल पर किसानों को कई तरह की सुविधाएं मिलती है।

● मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल 2022 के उद्देश्य क्या हैं?

• इस पोर्टल का उद्देश्य राज्य के किसानों को सभी सरकारी योजनाओं, सुविधाओं व जानकारी का लाभ डिजिटल तरीके से पहुंचाना है।
• देश के सुदूर इलाके के किसानों को कई तरह की सरकारी योजनाओं की जानकारी समय पर नहीं मिल पाती थी, जिसके कारण वह इसका लाभ नहीं ले पाते थे। इस पोर्टल का उद्देश्य ऐसी ही जानकारियां किसानों तक समय पर पहुंचाना है।
• पहले कृषि विभाग द्वारा बुआई, सिंचाई व कटाई के सही समय की जानकारी न्यूजपेपर आदि के माध्यम से दी जाती थी लेकिन यह समय पर किसानों तक नहीं पहुंच पाती थी। इस पोर्टल का उद्देश्य खेती से जुड़ी सभी जानकारियां किसानों तक समय पर पहुंचाना है।
• इस पोर्टल का उद्देश्य राज्य के हर किसान तक खाद-बीज व कृषि उपकरणों पर मिलने वाली सब्सिडी पहुंचाना है।
• इसका उद्देश्य किसानों को मंडी पर फसलों की खरीद-बिक्री की भी जानकारी उपलब्ध कराना है ताकि किसानों को उसके फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) प्राप्त हो सके।
• इस पोर्टल का उद्देश्य राज्य के किसानों का डाटा इकट्ठा करना भी है ताकि उनके लिए सही योजनाएं लाई जा सके।

◆ मेरी फसल मेरा ब्यौरा (हरियाणा) पोर्टल की मुख्य बातें :

• इस पोर्टल की शुरुआत हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने 4 जुलाई 2019 को की थी।
• इस पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट fasal.haryana.gov.in है।
• Meri Fasal Mera Byora Portal को किसानों की सुविधा के लिए लाई गई है।
• इस पोर्टल पर राज्य के किसानों का पूरा डाटा उपलब्ध रहेगा।
• इस पोर्टल पर किसान पंजीकरण व फसल पंजीकरण की भी सुविधा दी गई है।
• इस पोर्टल पर विभिन्न फसलों की बुआई, सिंचाई तथा कटाई के लिए सही समय की जानकारी दी जाएगी।
• इस पोर्टल के द्वारा संभावित प्राकृतिक आपदा से किसानों को पहले ही अलर्ट कर दिया जाएगा, ताकि फसलों की सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाया जा सके।
• इस पोर्टल के द्वारा किसान खाद,बीच और सिंचाई पर मिलने वाली सब्सिडी के लिए आवेदन कर सकते हैं।
• यह पोर्टल किसानों को कृषि उपकरणों की खरीदारी पर सब्सिडी की सुविधा उपलब्ध कराती है।
• इस पोर्टल के माध्यम से किसानों को उनकी समस्याओं का समाधान मिलेगा।
• यह पोर्टल किसानों को फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) दिलाने में मदद करेगा।
• यह पोर्टल किसानों के लिए लाई गई सभी सुविधाओं एवं योजनाओं के लिए एक मंच उपलब्ध कराती है।
• इस पोर्टल के माध्यम से मिलने वाली सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए Meri Fasal mera byora Registration 2022 कराना होगा।
• इस पोर्टल पर पंजीकरण व मिलने वाली सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए नजदीकी CSC केंद्र या अटल सेवा केन्द्र भी जाया जा सकता है।
• अब तक राज्य के लगभग 60% से अधिक किसानों ने इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाया लिया है।

● मेरी फसल मेरा ब्यौरा के क्या लाभ हैं?

• इस पोर्टल का सबसे बड़ा लाभ है कि अब किसानों को खेती से जुड़ी किसी जानकारी के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा।
• अब किसान, किसानों से जुड़ी किसी भी सरकारी योजना का लाभ सीधे इस पोर्टल के माध्यम से ले सकते हैं।
• इस पोर्टल पर किसानों से जुड़ी सभी सरकारी योजनाओं की जानकारी व इन योजनाओं का लाभ लेने की प्रक्रिया उपलब्ध है।
• यह पोर्टल किसी प्राकृतिक आपदा से फसलों को हुए नुकसान के लिए क्षति-पूर्ति दिलाता है।
• इस पोर्टल के बनने से अब किसानों को कृषि योजनाओं का लाभ लेने के लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। वह खुद से किसी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर इस पोर्टल पर मिलने वाली सुविधाओं का लाभ उठा सकता है।
• इस पोर्टल पर पंजीकृत किसान राज्य के लगभग दो हजार मंडियों में आसानी से अपना फसल बेच सकता है।
• हरियाणा राज्य में जिस किसी का भी खेती योग्य भूमि हो वह मेरी फसल मेरा ब्यौरा रजिस्ट्रेशन करवाकर पोर्टल पर मिलने वाली सुविधाओं का लाभ उठा सकता है।

● मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर कौन-कौन सी सुविधाएं उपलब्ध हैं?

1. किसान का पंजीकरण
2. फसल/खेती का पंजीकरण
3. फसलों की बुआई, सिंचाई तथा कटाई की जानकारी
4. बीज, उर्वरक और कृषि उपकरणों पर मिलने वाली सबसिडी की जानकारी व ऑनलाइन आवेदन
5. प्राकृतिक आपदा से होने वाले फसलों के नुकसान पर क्षति-पूर्ति योजना के लिए आवेदन
6. मंडी में फसल खरीदने-बेचने की जानकारी
7. पंजीकृत किसान के बैंक अकाउंट का विवरण
● Meri Fasal Mera Byora Haryana Portal का लाभ लेने के लिए आवश्यक पात्रता क्या है?
हरियाणा तथा हरियाणा के पड़ोसी राज्यों के ऐसे किसान जिसी कृषि योग्य भूमि हरियाणा में हो वह इस मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाकर इसका लाभ ले सकते हैं।

● मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के लिए जरूरी दस्तावेज कौन-कौन से हैं?

1. किसान का आधार कार्ड
2. पासपोर्ट साइज फोटो
3. बैंक पासबुक
4. जमीन का खतौनी
5. आवासीय प्रमाण पत्र
6. मोबाइल नंबर
● Meri Fasal Mera Byora Portal Online Registration 2022 Process :
इस पोर्टल पर मिलने वाली सभी सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए किसान को सबसे पहले Meri Fasal Mera Byora Portal Online Registration करवाना होगा। पंजीकरण(रजिस्ट्रेशन) कराने से पहले ऊपर बताए गए सभी दस्तावेज इकट्ठा कर लें। इसके बाद आप कॉमन सर्विस सेंटर, अटल सेवा केंद्र या स्वयं भी अपने मोबाईल/कंप्यूटर के माध्यम से मेरी फसल मेरा ब्यौरा पंजीकरण कर सकते हैं।
अगर आप खुद से ऑनलाइन पंजीकरण करना चाहते हैं तो नीचे बताए गए स्टेप्स को ध्यानपूर्वक फॉलो करें :
• सबसे पहले ब्राउजर में Meri Fasal Mera Byora Portal Official Website – fasal.haryana.gov.in पर जाएं।
• होमपेज पर आपको “किसान-अनुभाग” का विकल्प दिखेगा इसपर क्लिक करें।
• फिर Next Page में “किसान पंजीकरण (हरियाणा)” पर क्लिक करें।
• अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड डालकर लॉग इन पर क्लिक करें।
• इसके बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP प्राप्त होगा, इसे बॉक्स में भरकर Verify (सत्यापित) करें।
• ओटीपी सत्यापित करने के बाद के सामने परिवार पहचान पत्र के बारे में पूछा जाएगा आप अपने अनुभव हाँ या नहीं का चयन कर सकते हैं।
• अगर आपने हाँ सेलेक्ट किया है तो अपने परिवार पहचान पत्र का नंबर दर्ज करें।
• इसके बाद आपकी स्क्रीन पर किसान पंजीकरण का एक ऑनलाइन फॉर्म खुल जाएगा। इसमें मांगी गई सभी जानकारियां, पर्सनल डिटेल्स व बैंक अकाउंट विवरण आदि ध्यानपूर्वक सही-सही भरें।
• सबकुछ भरने के बाद एक बार चेक कर लें फिर “नोट : कृपया…” के सामने टिक लगाकर “जारी रखें” पर क्लिक करें।
• इसके बाद अगले पेज पर अपना जिला, तहसील, गांव, शहर तथा मुरब्बा सेलेक्ट करें।
• फिर जमाबंदी में मालिक का नाम या मुरब्बा संख्या जो भी आपने सेलेक्ट किया है उसेडालकर सर्च करें।
• सर्च करते हैं आपके जमीन की लिस्ट दिख जाएगी। इसमें अपने जमीन को सेलेक्ट कर लें।
• फिर “फसल भरें” पर जाकर अपने फसल की जाकरियाँ डाल दें।
• इसके बाद आप अपने मंडी की जानकारी भर दें।
• अंत में सबकुछ सही-सही भरने के बाद “धन्यवाद” मैसेज के साथ आपके फसल पंजीकरण की संख्या दिखेगी, इसे नोट करके रख लें।
• इसके बाद आप चाहें तो पूरा ब्यौरा पर क्लिक करके इसका प्रिंट आउट निकाल सकते हैं।
• इस तरह आपका पंजीकरण सफलतापूर्वक हो जाएगा।
● मेरी फसल मेरा ब्यौरा स्टेटस चेक (Meri Fasal Mera Byora Status Check) :
अगर आप जानना चाहते हैं कि मंडी में बिक्री के लिए आपकी कितनी फसल पास हुई है तो आप यह इस पोर्टल के माध्यम से आसानी से चेक कर सकते हैं। Status इसके लिए नीचे बताए गए Steps को फॉलो करें :
• सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट fasal.haryana.gov.in पर जाएं।
• यहां “किसान अनुभाग” के विकल्प पर क्लिक करें।
• “पंजीकरण प्रिंट (हरियाणा)” पर क्लिक करें।
• इसके बाद अपने फसल ऋतु सेलेक्ट करें तथा फसल के बारे में मांगी गई सभी जानकारियां व बैंक अकाउंट नंबर भरें।
• सभी जानकारियां भरने के बाद “प्रिंट करें” पर क्लिक करें।
• क्लिक करते ही आपकी स्क्रीन पर आपकी कौन सी फसल कब पास हुई है, कितनी पास हुई है, किसने Verify किया है आदि Details दिख जाएगी।
• इस तरह आप घर बैठे आसानी से Meri Fasal Mera Byora Status Check कर सकते हैं।
• अगर आपका कोई फसल पास नहीं हुआ है या अन्य कोई भी समस्या है तो आप अपने पटवारी से संपर्क कर सकते हैं।
● Meri Fasal Mera Byora Helpline Number :
अगर आपको इस पोर्टल से संबंधित कोई भी समस्या आ रही है या कोई विशेष जानकारी चाहिए तो आप इसके टॉल फ्री नंबर पर संपर्क कर सकते हैं :
Meri Fasal Mera Byora Toll Free Helpline Number :
• 1800 180 2117
• 1800 180 2060
Meri Fasal Mera Byora Important FAQ :
1.) मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल (हरियाणा) क्या है?
– यह हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए शुरू किया गया एक ऑनलाइन पोर्टल है। इस पोर्टल के माध्यम से किसान कृषि से जुड़ी सभी सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं। साथ ही फसल बुआई, सिंचाई, खाद डालने तथा कटाई आदि की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यह पोर्टल मंडी में फसल की खरीद-बिक्री में भी किसानों की सहायता करता है।
2.) मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण कैसे करें?
– अगर आप इस पोर्टल पर मिलने वाली सुविधाओं का लाभ उठाना चाहते हैं तो सबसे पहली पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण आप CSC केंद्र, अटल सेवा केंद्र या खुद अपने मोबाइल/कंप्यूटर से इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं।
3.) मेरी फसल मेरा ब्यौरा स्टेटस चेक कैसे करें?
– इसके लिए ऑफिशियल वेबसाइट जाएं। इसके बाद किसान अनुभाग में पंजीकरण प्रिंट (हरियाणा) पर जाकर मांगी गई सभी जानकारियां भरकर प्रिंट करें पर क्लिक करें।
4.) मेरी फसल मेरा ब्यौरा फसल पंजीकरण की अंतिम तिथि क्या है?
– इस योजना का लाभ उठाने के लिए 30 जून 2022 से पहले ही पंजीकरण करवा लें।
5.) मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के क्या लाभ हैं?
– इस पोर्टल के निम्नलिखित लाभ हैं :
1. खाद, बीज और कृषि यंत्रों पर सब्सिडी लाभ
2. मंडी में फसलों की खरीद-बिक्री
3. फसलों की बुआई, सिंचाई, उर्वरक डालना तथा कटाई के सही मौसम/समय की जानकारी
4. फसल की क्षतिपूर्ति का लाभ
5. किसानों को मिलने वाली सभी सरकारी योजनाओं का लाभ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

Wazir X kya hai? Centralized exchange | WazirX P2P क्या है और यह कैसे काम करता है?

Wazir X kya hai? Centralized exchange Wazir X kya hai isko kaise use kar te hai Centralized Exchange: WAZIR X दोस्तों...

More Articles Like This