Wednesday, July 6, 2022
No menu items!

Mutual Fund में Sip और Lumpsum होता है? | Mutual Funds SIP vs Lump Sum which is Better

Must Read

Mutual Fund में Sip और Lumpsum होता है? | Mutual Funds SIP vs Lump Sum which is Better

mutual fund में sip और Lumpsum होता है? एक ही कमाई के स्रोत पर निर्भर रहना आज के समय पे मूर्खता मानी जायेगी। बढ़ती हुई दरों दाम के साथ साथ अपने तथा परिवार के जरुरत को पूरी करने के लिए आप लोग इन्वेस्टमेंट के तरफ मुह मोड़ रहे है।

ऐसे में बैंक में उपलब्ध होने वाले RD और FD ज्यादातर लोग पसंद करते है, क्यों की यह सुरक्षित होते है। इसके अलावा सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड आदि के बारे में लोग इतना जागरूक नहीं है। बैंकों से मिलने वाली RD और FD पर उतना अच्छा रेवेनुए या मुनाफा नहीं मिल पाता जितना के स्टॉक मार्किट पर मिलता है।

 

इसके लिए अछि खासी जानकारी के होने के साथ साथ दूरदर्शी होना, रिस्क टेकिंग कैपेसिटी होना आदि मापदंड के तौर पर सामने आ जाते है। ऐसे में जो लोग नॉकरी करते है उनके लिए शेयर मार्किट में आना इतना आसान नहीं हो पाता है।

ऐसे में म्यूच्यूअल फण्ड भरोसेमंद होने के साथ साथ अच्छे रिटर्न जेनेरेट करके भी देता है। इसमें न तो आपको शेयर मार्किट की तरह रिसर्च करने होते है और न ही नयी नयी स्ट्रेटेजी बनानी पड़ती है।

म्यूच्यूअल फण्ड ऐसे फण्ड होते है जो अपने AMC(एसेट मैनेजमेंट कंपनी) के द्वारा बनाये जाते है। यह फण्ड लोगों से अपने फण्ड के जरिये पैसे लेकर उन्हें स्टॉक्स, गवर्नमेंट बांड, ट्रेज़री बिल आदि में इन्वेस्ट करके मुनाफा कमा कर देती है।

SEBI के एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में लगभग 1.85 करोड़ इन्वेस्टर ऐसे है जो के म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट किये हुए है। भारत में लगभग 10,000 करोड़ से भी ज्यादा रुपये हर महीने म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट किये जाते है। इनके अवधि एक रात से होकर कई सालों तक चल सकता है।

बढ़ती हुई जनजागरूकता के साथ म्यूच्यूअल फण्ड इन्वेस्टमेंट अब शेयर मार्किट की बिकल्प बनने लगी है।
लोग अब इन फण्ड के साथ ज्यादा जुड़ने से यह उछाल फण्ड के केश फ्लो साथ साथ उनके मुनाफे पर भी देखने को मिल रहे है।

 

 

mutual fund में sip और Lumpsum होता है?

म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट करने के लिए दोनों ही तरीके आपके लिए महजूद है। Lumpsum यानि के बहत सारे पैसे एक साथ जमा करना या फिर SIP(Systematic Investment Plan) थोड़े थोड़े करके जमा करना, दोनों में से आप कोई भी चुन सकते है। यह आप पर निर्भर करता है कि आप कौनसे तरीके से इन्वेस्टमेंट करना चाहते है।

इसे भी पढ़े:

four golden rule of investing 2022 | निवेश के चार सुनहरे नियम

 

 mutual fund में Lumpsum in क्या होता है?

 

एक ही बार में किसी राशि का भुगतान करने को हम लम्प सम कहते है। ज्यादातर लुम्पसम राशि काफी मोती रकम होते है। जैसे आप मान लीजिये बैंक के FD, इसमें आपको एक ही बार भुगतान करना होता है। इसपे आपको एक ही बार में पूरे स्कीम के लिए भुगतान करना होता है।

ऐसे ही म्यूच्यूअल फण्ड में किसी फण्ड के स्कीम में लम्पसम में भी भुगतान कर सकते है। इसमें आपको बताई हुई रिटर्न मिलते रहेंगे।

किन्हें Lumpsum भुगतान करने की आवश्यकता है?

वेसे तो Lumpsum राशि कोई भी भुगतान कर सकता है, लेकिन हर किसी के लिए ऐसी भुगतान करना अनिवार्य नहीं है। एक बहतर प्लान के बिना की हुई लम्पसम भुगतान को बेवकूफी मानी जायेगी।

वे लोग जिनके पास काफी सारा पैसा बिना कहीं इन्वेस्ट के बचगये है या फिर महजूद है वो लम्पसम इन्वेस्टमेंट के बारे में सोच सकते है। क्यों के इसके बाद आपको आपके रेगुलर एक्सपेंसेस या जरुरत को भी पूरा करना होता है।

 

अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड इन्वेस्टमेंट में नए है तो आप लम्पसम के बजाये SIP को चुन सकते है, इससे आपको कम इन्वेस्ट के साथ साथ एक अनुभव भी हो जायेगा। या फिर आपकी पास एक स्टेबल इनकम सोर्स है जो की काफी अच्छी है तो भी आप इसके लिए सोच सकते है।

इसे भी पढ़े:

Mutual Fund Hindi 2022 | Mutual Fund kya hai

Lumpsum में कितने दिन तक इन्वेस्ट करना सही रहेगा?

कोई भी इन्वेस्टमेंट जितने ज्याता समय तक हो उतना ही अच्छा होता है। इसमें कोई दो राय नही है कि किसी भी फण्ड या फिर कंपनी को अच्छा खासा रिटर्न जेनेरेट करने में वक़्त लगता है।

कुछ डेब्ट फण्ड ऐसे होते है जो के एक रात के लिए भी इन्वेस्ट करते है, इन्हें overnight fund कहा जाता है। जो के low duration फण्ड के श्रेणी में आते है।

इस तरह के फण्ड में आप 1 दिन से लेकर कुछ महीनो तक भी निवेश कर सकते है। इसके अलावा लिक्विड फण्ड या फिर money market फण्ड भी ऐसी सुविधाएं देती है।

अगर इनमे लम्पसम में इन्वेस्ट किया जाये तो थोड़ा बहत अच्छा रिटर्न आ जाता है। इसके अलावा आप लम्पसम को लंबे समय तक इन्वेस्ट जैसे की 10 से 15 साल तक के लिए कीजिये । इसमें आपको ज्यादा फायदा होगा।

कितने पैसों से आप Lumpsum में इन्वेस्ट कर सकते है?

ऐसी तो इसके लिए कोई मापदंड नहीं है, फिर ज्यादातर फण्ड जो NFO के जरिये पब्लिक से पैसे लेते है इसको 5000 रखे है। लम्पसम में आप 1000 से भी सुरु कर सकते है।

ओपन एंडेड फण्ड जो के आपको साल भर किसी समय मिलजाते है इनमे आप कम से कम 1000 में भी इन्वेस्ट कर सकते है। लम्पसम के लिए कोई मैक्सिमम लिमिट तय नहीं किया हुआ है। आप जितना भी चाहे इसमें इन्वेस्ट कर सकते है।

Lumpsum इन्वेस्टमेंट के लिए डेब्ट, इक्विटी, कम अवधि वाले फण्ड तथा हर किसम के फण्ड अच्छे होते है।

इसे भी पढ़े:

Intraday Trading क्या होता है? | इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करते हैं? | इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है in Hindi? 2022

SIP(Systematic Investment Plan) in म्यूच्यूअल फण्ड

SIP या Systematic Investment Plan में आप थोड़े थोड़े करके एक निर्दिष्ट अवधि के बाद आप इन्वेस्ट करते रहते है। यह बैंक में मिलने वाले RD के तरह होते है। मान लीजिए आप हर महीने 500 रुपये का इन्वेस्ट करते है। यह SIP इन्वेस्टमेंट का एक उदहारण है। इसमें थोड़े थोड़े करके जमा करने से यह आपके रोज के जिम्मेदारियों के ऊपर कोई असर नहीं डालता।

SIP किन्हें करना चाहिए?

  • अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड इन्वेस्टमेंट में नए है तो यह आपके लिए अछि सुरूवात होगी।
  • स्टूडेंट्स के लिए यह सबसे बहतर होते है, क्यों के इनमे SIP 100 से लेकर 500 रूपए तक मिल जाता है, इतना तो हर कोई एक महीने में जमा करवा सकता है।
  • सैलरीड पर्सन के लिए भी यह बहतर है। अपने सैलरी का एक हिस्सा आप इसमें हर महीने जमा करवा सकते है।

SIP के लिए सही समय सीमा

जैसे की SIP में थोड़े थोड़े करके ही पैसे जमा होता है, इसीलिए आप जितने ज्यादा समय के लिए SIP में इन्वेस्ट करेंगे उतना ज्यादा आपको यह मुनाफा कमाकर देगी। 10 से 15 साल के अवधि वाले SIP प्लान सबसे बहतर मणि जाती है।

कितने रुपये से आप SIP कर सकते है?

SIP में कम से कम 500 रुपये आप इन्वेस्ट करने की कोशिश करे। आजकल यह 100 रुपये में भी मिल जाते है। मगर जितना ज्यादा आप SIP में इन्वेस्ट करेंगे यह उतना बहतर रिटर्न आपको देगी।

SIP के लिए कई सारे इक्विटी फण्ड है , मगर आजकल डेब्ट फण्ड भी SIP ऑफर कर रहे है। दोनों ही फण्ड में मुनाफा अच्छा मिलता है।

 

mutual fund Hindi में निवेश करने के कुछ फायदे

  • इसमें ज्यादा जानकारी रखने की जरुरत नहीं होता है।
  • आपके पैसों को मैनेज करने के लिए एक प्रोफेशनल फण्ड मैनेजर होगा
  • भागदौड़ भरी जिंदेगी में इसके लिए वक़्त निकलने की जरुरत नहीं होता है।
  • स्टूडेंट्स भी अपने पॉकेट मनी से इनमे इन्वेस्ट कर सकते है, क्यों के इनके इन्वेस्टमेंट बहत ही कम पैसों से सुरु होता है।
  • म्यूच्यूअल फण्ड में किसी के मन में आने वाले सवाल में से सबसे ज्यादा सायद यह हो सकता है कि , “कितने रुपये से इन्वेस्ट करना सुरु करे ” या फिर “क्या इसमें इंस्टॉलमेंट या RD के तरह थोड़े थोड़े पैसे भी जमा किया जा सकता है”?

 

दोस्तों आज हमने mutual fund में sip और Lumpsum होता है? इस  के बारे में काफी विस्तार से चर्चा किया। आशा है आप भी जरूर कुछ नए सिखने के साथ साथ कई सारे प्रश्नों का उत्तर भी निकाला होगा। ऐसे में बिना हिचकिचाये आप थोड़े हो या बहत पैसों से म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट कर सकते है। आपको पोस्ट कैसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बताये। Mutual Fund kya hai

Mutual Funds: जान लीजिए इन बातों का मतलब, निवेश में होगी आसानी

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

Districts of Assam

Districts of Assam There are 33 districts in Assam and the number of villages in Assam is currently 26637, Assam...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img