Tuesday, July 5, 2022
No menu items!

Organic Traffic बढाने के Tips 2022 | Organic Traffic Kaise Badaye

Must Read

Organic Website Traffic Badhaye 2022

किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट के लिए सिर्फ अच्छे कंटेंट या पोस्ट करना ही जरुरी नहीं होता, जब तक के अच्छे खासे ट्रैफिक न जाये उन पे। ट्रैफिक बढ़ने ब्लॉगरको मोटिवेशन भी मिलता रहता है। अच्छे ट्रैफिक के आने से ब्लॉगर अच्छा कमाने भी लगता है। इसलिए अच्छे कंटेंट के साथ साथ ट्रैफिक को लाना भी ब्लॉगर के लिए एक बड़ा चैलेंज सा लगता है। इसलिए आज हम बात करने वाले है Organic Traffic बढाने के Tips 2022। इसमें हम पोस्ट से लेकर SEO तथा और भी कुछ टूल्स और तरीके के बारे में जानेंगे जिससे की आपको Organic Traffic ड्राइव करने में मदद मिलेगी।

Organic Traffic बढाने के Tips 2022 Organic Traffic Kaise Badaye

तो चलिए सबसे पहलेOrganic Traffic बढाने के Tips के बारे में बात करने से पहले यह जान लेते है कि ट्रैफिक कितने प्रकार के होते है। दोस्तों सबसे पहले हम अपकोयः बता दें कि आपके साइट्स पर आने वाले विजिट ही ट्रैफिक होता है, वेसे तो यह कई प्रकार के हो सकते है, जैसे की-

Bot Traffic

यह ट्रैफिक इंसानों द्वारा नहीं बल्कि bot यानि आम बहस में रोबोट या कहे स्पेशल प्रोग्राम के वजह से आता है। जब भी आप किसी SEO टूल्स का इस्तेमाल करते है तो वो आपके साइट का seo परफॉरमेंस चेक करने के लिए bot या crawler भेजता है, जिससे के आपके साइट पर ट्रैफिक बढ़ता रहता है। आमतौर पर इससे ज्यादा कुछ हानि नही होता है वेबसाइट्स को, पर उस वक़्त के रियल विज़िटर्स के लिए साइट थोड़ा slow हो जाता है।

इसे भी पढ़े :

13 google adsense approval trick 2022

email traffic

ईमेल के तहत आने वाले सारी ट्रैफिक को ईमेल ट्रैफिक माना जाता है। जैसे की ईमेल सब्सक्रिप्शन या फिर newsletter, जिससे आपके साइट के पोस्ट के अपडेट के बारे में यूज़र्स को बताया जाता है। या फिर ईमेल मार्केटिंग के जरिये लायी गयी विज़िटर्स।

social media ट्रैफिक

जब भी आप अपने नए पोस्ट के बारे सोशल नेटवर्किंग साइट पर अपडेट करते है , वहां से आने वाली ट्रैफिक को सोशल मीडिया ट्रैफिक मानी जाती है। यह भी आपके साइट्स के लिए अच्छे है, इनसे भी आप अच्छा खासा ट्रैफिक जेनेरेट कर पाते है।

Organic ट्रैफिक

दोस्तों जब भी कोई सर्च इंजन में सर्च करके आपके वेबसाइट पर आता है उसे आर्गेनिक ट्रैफिक कहा जाता है। ऐसी ट्रैफिक सबसे important होते है। इसके लिए कई सारे factors जिम्मेदार है जो की आर्गेनिक ट्रैफिक को आपके वेबसाइट तक लेके आते है, जैसे की अछि कंटेंट, seo, वेबसाइट स्पीड, लोडिंग स्पीड आदि। इसके बारे में हम आगे चलकर बिस्तार से बात करने वाले है।

इसे भी पढ़े :

20 Best Ad Networks for Bloggers | blogger के लिए Best 20 Ad Networks

direct traffic

आपके ब्लॉग या साइट के एड्रेस सर्च बार पर सर्च करके आने वाले ट्रैफिक को डायरेक्ट ट्रैफिक कहा जाता है। इसके अलावा अगर आपके ब्लॉग या फिर साइट को अगर कोई दूसरे इंसान को रेफर करता है तो उससे जेनेरेट होने वाले ट्रैफिक को हम रेफरल ट्रैफिक भी कहते है।

 

आर्गेनिक ट्रैफिक को लाने के लोये कई सारे फैक्टर्स जिम्मेदार होते है।जैसे की पेज के डिजाईन से लेकर अछा seo तक आपको आर्गेनिक ट्रैफिक देने के लिए काफी मददगार होते है।

Content

हमेशा से अच्छा कंटेंट ओर्गानिक ट्रैफिक लाने में कारगर साबित होता है। कंटेंट के क्वालिटी अच्छा होने के साथ साथ उसपे दिए गए फैक्ट्स तथा रेफरेन्स सठीक होने पर यह कंटेंट को एक उम्मदा किसम का पोस्ट बनाता है।

I- quality content

क्वालिटी कंटेंट न सिर्फ आपके लिए फायदेमंद है बल्कि आपके रीडर्स के लिए भी ये फायदेमंद है। इससे रीडर्स को अछि जानकारी तथा मनोरंजन दिलाने के साथ साथ आपके ब्लॉग पे वैल्यू भी ऐड करता रहता है। इससे आपके रीडर्स बार बार आपके साइट पर आना चाहते है।

I I- सही तथा सठीक जानकारी

हमेशा से दुनिया भरोसे पर कायम है। इसीलिए यह भरोसे को कायम रखते हुए आपके पोस्ट पर भी हमेशा सठीक और सही जानकारी का होना बेहद जरुरी है। न्यूज़, फैक्ट्स जैसी पोस्ट पर हमेशा से अछि खासी रिसर्च की जरुरत पड़ती है इससे आप हर वो पहलू को देख पाते है जो बाकियों से छूट जाता है।

इसे भी पढ़े :

Keyword Research क्या होता है? और ये SEO के लिए क्यों जरुरी है – Hindi में 2022

III- पूरी जानकारी का महजूद होना

हमेशा अपने रेडर्स को पूरी जानकारी दे, आधा अधूरा जानकारी बिना मतलब के होते है। अगर आपके ब्लॉग पर आधा अधूरा जानकारी है तो इस वजह से विज़िटर्स दूसरे वेबसाइट पर जायेंगे बाकि के जानकारी हासिल करने के लिए इससे आपके साइट का बाउंस रेट बढ़ेगा। यह एक खतरनाक लक्षण होता है किसी भी साइट के लिए।

IV- नए कंटेंट लाये

डिमांड के हिसाब से हमेशा नया नया कंटेंट लाने की कोशिश करे। अपने आप को अपडेट करते रहे। नए नए कंटेंट्स से विजिटर आने के साथ साथ आपके ट्रैफिक में भी काफी उछाल आयेगा। हमेशा नया टॉपिक ही सर्च इंजन पर ट्रेंड करता रहता है। इसीलिए ट्रेंड को समझने के साथ साथ नया तथा सदाबहार(evergreen) कंटेंट लेन की कोशिश करे।

V- कंटेंट की सुद्धता बजाय रखे

कंटेंट लिखने के बाद उसे कम से कम २ बार जरूर पढ़े। इससे आपके कंटेंट में हुई गलती का अहसास आपको हो जायेगा। इसके साथ साथ कंटेंट में अच्छा और बहतर हैडिंग दे, जिससे की यह कंटेंट बाकियों से अलग तथा महत्वपूर्ण लगेगा। Organic Traffic

इसे भी पढ़े :

23 Websites for Bloggers in Hindi 2022

अच्छे और बहतर कंटेंट के साथ साथ SEO आर्गेनिक ट्रैफिक ड्राइव करने में मुख्य भूमिका निभाता है। अगर आप सठीक ढंग से SEO न करवाई हो तो आपका कंटेंट कभी भी सर्च इंजन पर रैंक नहीं करेगा। इसके लिए आपको कई सारे बिषय पर ध्यान देना होगा। Organic Traffic

SEO

अपने कंटेंट को किसी भी सर्च इंजन ; गूगल , याहू में ढालने तथा शो करने की हर वो कोशिश को SEO कहा जाता है। यह किसी डेफिनेशन से बढ़कर है जो सिर्फ एक ब्लॉगर ही समझ सकता है। इसमें आप कीवर्ड रिसर्च से लेकर seo बेस्ड कंटेंट तक काफी कुछ करना पड़ता है। Organic Traffic

I- Keyword research

कीवर्ड रिसर्च से कंटेंट आईडिया के साथ साथ एक बहतर हैडिंग का भी सुझाव मिल जाता है। कौन कौन से कीवर्ड अभी उस टॉपिक पर ट्रेंड कर रहे है और कब कब वो ट्रेंड ऊपर या फिर नीचे गया था उसका पूरा जानकारी आपको मिलजाता है।
इससे आपको एक बहतर कंटेंट बनाने के मौके भी मिलजाते है। इसके लिए कई सारे फ्री तथा पेड ऍप भी महजूद है, उनमे से गूगल कीवर्ड प्लानर, Ahrefs आदि कुछ जानेमाने टूल्स है। आप इनके मदद से अच्छा कीवर्ड रिसर्च कर सकते है। Organic Traffic

II- SEO BASED CONTENT

SEO कंटेंट आपको सर्च इंजन पर रैंक कराने के साथ साथ आपको आर्गेनिक ट्रैफिक भी देता है। अपने कंटेंट तथा हैडिंग में कीवर्ड को ध्यान से इस्तेमाल करे। इसके साथ साथ जब भी आप कुछ टॉपिक पर कंटेंट लिखते है तो गूगल में सर्च करते वक़्त ” people also looking for” के सेक्शन को देखना न भूले। उससे भी आपको अछि खासी आईडिया हो जायेगी। Organic Traffic

III- Search intent को समझे

 

कभी कभी हम सर्च इंजन पर कुछ ढूंढ रहे होते है और उसका सही रिजल्ट के बदले उससे मिलता जुलता सर्च हमे दिखाया जाता है, क्यों की सर्च इंजन पर उस तरह के कंटेंट महजूद नहीं रहता। इसीलिये सर्च इंजन पर सर्च किये हुए टॉपिक को ध्यान से देखे और सर्च इंजन के सुझाव को भी अहमियत दे। इससे आपको वीवर्स के बेहविओर तथा इंटेंशन के बारे में पता लग पाएगा। फिर आप उस हिसाब से बहतर कंटेंट बना पाएंगे। Organic Traffic

IV अपने कंटेंट को voice search के लिए ऑप्टिमाइज़ करे

आजकल अलेक्सा जैसी प्रोडक्ट के आ जाने से voice search की डिमांड बढ़ने लगी है। इसके लिए अपने कंटेंट को सर्च इंजन तथा voice सर्च के लिए भी ऑप्टिमाइज़ जरूर करे। इससे आपको दोनों तरफ से आने वाली ट्रैफिक की संभावना बढ़ जाती है। Organic Traffic

V-  On-page/ethical SEO पर ध्यान दे

On page seo भी आपको काफी मदद कर सकता है आर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने में। अपने कंटेंट के meta description से लेकर topic heading तक का खास खयाल रखें। यह आपको सर्च इंजन पर रैंक करने में काफी मदद करते है। इसके साथ साथ कीवर्ड stuffing जैसी ब्लैक हैट seo तकनीक से दूर ही रहे।

इसे भी पढ़े :

Black Hat SEO और White Hat SEO क्या है? 2022

VI- Long tail keyword का इस्तेमाल करे

ज्यादातर longtail कीवर्ड में कीवर्ड डिफिकल्टी काफी कम होता है, ये इतने जल्दी सर्च इंजन पर आते नहीं और आ जाये तो जाते नहीं। इसलिए आप अपने कंटेंट में बिच बिच में लॉन्ग टेल कीवर्ड का भी इस्तेमाल किया करे, ये भी एक अच्छा जरिया होता है आर्गेनिक ट्रैफिक लाने का। Organic Traffic

VII- site audit करवाए

समय समय पर अपने ब्लॉग तथा साइट की ऑडिट जरूर करवाए, इससे आपको आपके साइट के SEO के परफॉरमेंस के बारे में पता लगने के साथ साथ broken link का भी पता लग पायेगा। broken link के मिलते ही उस पर काम करे, यह साइट की काफी ट्रैफिक कम कर सकती है। Organic Traffic

VIII- google discover से जुड़े

आजकल हर फ़ोन में गूगल एक सर्वोत्तम सर्च इंजन है खास करके Android वाले फ़ोन में। इसमें गूगल के डिस्कवर को आप सब तो जानते ही होंगे। इससे जुड़ने से आपके साइट पर ट्रैफिक बढ़ने की उम्मीद और बढ़ जाता है।

 

आर्गेनिक ट्रैफिक लाने में कंटेंट और SEO आपके जितने मदद करते है उतना ही आपका वेबसाइट और ब्लॉग की डिजाईन, लुक और स्पीड भी करते है। Organic Traffic

वेबसाइट डिजाईन और परफॉरमेंस

वेबसाइट तथा ब्लॉग को attractive बनाने से विज़िटर्स आपके वेबसाइट पर आते ही बिना ब्राउज किये नही जाते, जिससे की आपके बाउंस रेट काफी कम तथा कण्ट्रोल में रहता है। एक अच्छी डिजाईन के लिए आपको कोई वेब डिजाईन की कोर्स करने को हम नहीं कहते, बस कुछ बेसिक जानकारी के साथ यह काम आप बड़े ही आसानी से कर सकते है।

Theme का चयन

हमेशा से लाइट वेट तथा अच्छा दिखने वाला थीम का ही चयन करे, इससे आपका वेबसाइट न सिर्फ बहतर लगेगा बल्कि स्पीड में भी काफी इम्प्रूवमेंट देखने को मिलेगा। इससे आपके विजिटर लोडिंग स्पीड से बोर होक दूसरे साइट पर नहीं जायेंगे।

कम से कम विजेट का इस्तेमाल करना

विजेट काफी काम की चीज होती है। इसीलिए इनका इस्तेमाल हर कोई करता है, मगर कितना करना चाहिए इसका कोई सठीक नियम नहीं है। इसीलिए जितना आपके लोये ज्यादा जरुरी है उतना ही इस्तेमाल करे। बाकि के विजेट को आप हटादे। Organic Traffic

इसे भी पढ़े :

कैसे अच्छी वर्डप्रेस होस्टिंग चुनें? Best WordPress Hosting in 2022

बैकग्राउंड इमेज तथा कंप्रेस इमेज का इस्तेमाल सठीक से करे

कई बार high resolution के इमेज के वजह से साइट के परफॉरमेंस के ऊपर effect पड़ता है। इसीलिए फोटो और इमेज को कंप्रेस करने के लिए प्लगइन का इस्तेमाल करे अगर आप वर्डप्रेस इस्तेमाल कर रहे है। इसके अलावा बैक ग्राउंड इमेज हमेशा लाइट और ब्राइट होना चाहिए, जिससे की कंटेंट को पढ़ते समय कोई दिक्कत न आये।

हैडिंग, फॉन्ट, टेक्स्ट साइज का ध्यान रखे

एक कंटेंट को उसके फॉन्ट और साइज उसे बहतर readability देने में मदद करते है। इसीलिए अपने कंटेंट में इस्तेमाल किये हुए फॉण्ट तथा साइज का सही से उपयोग कीजिये। इसके साथ साथ हमेशा अच्छा और बहतर हैडिंग दीजिये।

दोस्तों यूँ तो आर्गेनिक ट्रैफिक अपने साइट पर लाना सवसे मुश्किल काम लगता होगा, मगर ऐसे ही कुछ छोटी छोटी बात पर ध्यान देने से आप अच्छे खासे ट्रैफिक अपने साइट पर ला सकते है। आज हमने organic traffic बढ़ाने की tips 2022 के बारे में काफी चर्चा किया। सबसे अहम बात इसमें यह है कि आपको धैर्य के साथ काम करने से आपके साइट पर आर्गेनिक ट्रैफिक के अच्छा खासा नंबर्स देखने को मिलेंगे। Organic Traffic

आशा है हमारा यह Organic Traffic बढाने के Tips आपके काम जरूर आयेगा। इस बारे में अपना राय तथा सुझाव हमे कमेंट्स में जरूर दे। Organic Traffic

इसे भी पढ़े :

what is Google Adsense In Article In, Feed Native Ads? जानिए Hindime 2022

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

Districts of Assam

Districts of Assam There are 33 districts in Assam and the number of villages in Assam is currently 26637, Assam...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img