21.4 C
New York
Tuesday, May 17, 2022

Buy now

RBI Ne Kisan Credit Card | RBI ने किसान क्रेडिट कार्ड के नियम बदले 2022

RBI Ne Kisan Credit Card | RBI ने किसान क्रेडिट कार्ड के नियम बदले

दोस्तों, अगर आप एक किसान हैं और आपके पास किसान क्रेडिट कार्ड है या फिर आप Kisan Credit Card पर लोन लेने की सोच रहे हैं तो हमारा आज का आर्टिकल आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित होने वाला है। दरअसल, RBI ने किसान क्रेडिट कार्ड के नियम में एक महत्वपूर्ण बदलाव किया है।

क्या है वो बदलाव, किसान क्रेडिट कार्ड full details in Hindi, किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं, किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज और भी बहुत कुछ जानेंगे अपने आज की इस article में, तो चलिए बिना देर किए हुए शुरू करते हैं।

Kisan Credit Card full details in Hindi

 

योजना का नाम किसान क्रेडिट कार्ड योजना
कब स्टार्ट हुई अगस्त 1998 ई. में
लाभार्थी देश का किसान
उद्देश्य कम ब्याजदर में loan उपलब्ध कराना
Loan की रकम 3 लाख रुपये तक (तीन लाख से अधिक लोन लेने पर ब्याजदर बढ़ जाती है)
ब्याज दर 7% (3 लाख रुपये तक)
आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/

 

किसान क्रेडिट कार्ड योजना क्या है?

 

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत किसानों को एक क्रेडिट कार्ड प्रदान किया जाता है, जिसे Green Card के नाम से भी जाना जाता है।

इस card के जरिए किसानो को लोन लेने की सुविधा दी जाती है। यह लोन सरकार द्वारा किसानों की आर्थिक मदद के लिए उनके साल भर में खेती पर होने वाला खर्च को पूरा करने के लिए दिया जाता है।

किसानों को यह लोन क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक या अन्य सरकारी बैंकों के माध्यम दिया जाता है। किसान इस लोन का इस्तेमाल मुख्यतः फसल की बुहाई, बीज, खाद, खेती व फसल बीमा में होने वाले खर्च को पूरा करने के लिए करते है।

 

किसान क्रेडिट कार्ड योजना कब शुरू हुई?

 

Kisan Credit Card के द्वारा सरकार किसानो को बैंको द्वारा सस्ते ब्याज दर में लोन उपलब्ध कराती है। इस योजना को साल 1998 में तत्कालीन वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा द्वारा Indian Government, RBI एवं NABARD द्वारा मिलकर start किया गया था।

 

किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याजदर?

 

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत दिया जाने वाला लोन देश का सबसे सस्ता लोन है।

 

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत यदि कोई किसान, KCC (Kisan Credit Card) पर 3 लाख रुपए तक का लोन लेता है और वह 1 वर्ष पूरा होने से पहले ही ब्याज सहित पूरा अपना पूरा लोन चुका देता है तो उसे 3 लाख रुपए तक के लोन में इंडियन गवर्मेंट द्वारा 3% की ब्याज में छूट मिल जाती है।

 

किसान क्रेडिट कार्ड पर कुल 9% ब्याज दर होती है जिसमें 2 फीसदी ब्याज सब्सिडी तो केंद्र सरकार द्वारा ही मिल जाती है और यदि आप 1 साल के पहले ही पूरा लोन चुका देते हैं तो आपको सरकार द्वारा 3% अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि भी दी जाती है। इस प्रकार ऋण पर किसान को केवल 4 प्रतिशत की दर से ब्याज चुकाना होता है।

 

RBI ने किसान क्रेडिट कार्ड के नियम में क्या किया है बदलाव?

 

Kisan Credit Card (KCC) के फसल ऋण योजना के मानदंडों में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने एक बड़ा बदलाव किया है। दरअसल, किसानों को दी जाने वाली ब्याज रियायतों की राशि का दावा करने के लिए ये बदलाव किए गए हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक ने इसके लिए सर्कुलर जारी किया है जिसमें उन्होंने स्पष्ट कहा है कि अब बैंकों को सालाना आधार पर किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के माध्यम से कृषि और संबद्ध गतिविधियों के लिए, अल्पकालिक ऋण के लिए अपने दावे प्रस्तुत करने होंगे, जो उनके वैधानिक लेखा परीक्षकों द्वारा विधिवत प्रमाणित होने चाहिएं।

वर्ष 2021-22 के दौरान किए गए संवितरण से संबंधित कोई भी बकाया दावा अलग से वसूल किया जा सकता है और इसे ‘अतिरिक्त दावा’ के रूप में भी चिह्नित किया जा सकता है। इसे 30 जून, 2023 तक नवीनतम रुप से प्रमाणित किया जा सकता है।

 

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं?

 

यदि आप किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ उठाकर लोन लेना चाहते है, तो सबसे पहले आप यह जान लीजिए कि किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) सिर्फ उन्ही किसानों को प्रदान किया जाता है, जिनके पास अपनी कृषि योग्य भूमि होती है। अगर आपके पास अपनी कृषि भूमि है तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

 

इस योजना का लाभ उठाने के लिए आप अपने नजदीकी बैंक में संपर्क करना होगा। जहां आपको नीचे बताए गए दस्तावेजों को लेकर जाना होगा।

अगर आप केवल 1.60 लाख तक कृषि ऋण लेना चाहते हैं तो बैंक आपको इन्ही दस्तावेजों से लोन आसानी से मिल जाएगा लेकिन इससे अधिक लोन लेने के लिए बैंक द्वारा लोन देने से आपकी CIBIL रिपोर्ट चेक करेगा।

सिबिल रिपोर्ट सही होने पर ही बैंक आपको ऋण देगा। CIBIL रिपोर्ट के लिए बैंक द्वारा आपके दस्तावेजों का तहसील से अपने अधिवक्ताओं (वकीलों) से सत्यापन करवाया जा सकता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें, बैंक अधिवक्ता संबधित कृषि भूमि के 12 साल के रिकॉर्ड का सत्यापन करके अपनी एक रिपोर्ट तैयार करके बैंक को देता है। सभी दस्तावेज सही व पुरे होने पर बैंक आपको KCC लोन दे देगा।

 

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) योजना के तहत आने वाले बैंक

 

लगभग सभी बैंकों द्वारा किसानों को KCC की सुविधा प्रदान की जाती है। इसलिए अगर आप एक किसान हैं और आप इस सुविधा का लाभ उठाना चाहते हैं तो आप अपने किसी भी नजदीकी बैंक में जाकर इस सुविधा के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं। वैसे आपकी जानकारी के लिए हमने नीचे कुछ प्रमुख बैंकों के नाम बताए हैं जहां से आप किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ ले सकते हैं –

 

  • State Bank Of India

 

  • HDFC bank

 

  • Bank of india

 

  • Axis Bank

 

  • Punjab National Bank

 

  • ICICI Bank

 

  • Bank Of Baroda आदि।

 

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज?

 

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कुछ प्रमुख दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जो कि इस प्रकार है-

 

  • भरा व हस्ताक्षर किया हुआ आवेदन फॉर्म

 

  • आवेदक की फोटो

 

  • खसरा – खातौनी (Khasra Khatauni)

 

  • पहचान प्रमाण के लिए –मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड (Aadhaar), डीएल आदि।

 

  • एड्रेस प्रूफ के लिए – निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस या कोई अन्य सरकार द्वारा स्वीकृत आईडी।

 

  • ऋण राशि ढेढ़ लाख से अधिक होनें पर तहसील से बना हुआ बारह्साला (तहसील से 12 वर्ष का जमीन का रिकॉर्ड)

 

  • नजदीकी बैंकों द्वारा प्रदत्त No dues Certificate (यानी आपके उपर किसी प्रकार का कोई बकाया लोन ना हो)।

 

किसान क्रेडिट कार्ड कितनी जमीन चहिए?

 

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए सबसे important बात यह है कि किसान के पास स्वयं की कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए।

 

अब प्रश्न यह है, कि केसीसी के लिए कितनी जमीन होनी चाहिए और कितनी जमीन होने पर आपको कितना ऋण मिलेगा? अगर आपके मन में भी अब प्रश्न उठ रहा है तो बता दे, इस चीज का निर्धारण जिले स्तर पर गठित तकनीकी समिति द्वारा किया जाता है। इस समिति को

District Level Committee यानी डीएलसी के नाम से जाना जाता है। इस समिति के अध्यक्ष डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट यानी जिलाधिकारी होते है।

 

किसान क्रेडिट कार्ड का उद्देश्य?

 

ये बताने की जरूरत नहीं है कि आज भी हमारे देश में किसानों की की क्या स्थिति है। हालाकि सरकार द्वारा उनके आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे है।

दरअसल ज्यादातर किसानों की कमाई का एकमात्र जरिया खेती होता है, ऐसे में यदि किसी कारणवश उन्हें कृषि में किसी प्रकार का कोई नुकसान होता है तो उन्हें अगली कृषि के लिए धन के लिए या तो बैंकों से ऋण लेना पड़ता है या फिर साहूकारों से ब्याज पर पैसा।

बैंकों से ऋण लेने के लिए कागजी कार्रवाई में अत्यधिक समय लग जाता है ऐसे में उनके पास साहूकारों से ब्याज पर पैसा लेने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं रह जाता। साहूकार से ब्याज पर पैसे उधार लेने पर ब्याजदर इतनी अधिक होती है कि किसान उसकी भरपाई करने में पूरी तरह से बर्बाद हो जाता है।

किसान की इसी समस्या को देखते हुए  भारत सरकार द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत की गयी है। इस योजना का लाभ उठाकर किसान अपनी आवश्यकता के अनुरूप धन की प्राप्ति कर सकते हैं और इसकी सबसे खास बात यह है, कि इसमें कागजी प्रक्रिया सरल होनें के साथ ही ब्याजदर भी काफी कम होता है।

 

किसान क्रेडिट कार्ड हेल्पलाइन नंबर?

 

यदि आपको किसान क्रेडिट कार्ड से सम्बन्धित अन्य जानकारी की आवश्यकता है या फिर आप किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने में किसी प्रकार की दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है तो आप नीचे बताए गए टोल फ्री नंबर पर फोन करके संपर्क कर सकते हैं –

 

1800-180-1551

 

आज आपने क्या सीखा?

 

दोस्तों, आज के आर्टिकल में हमनें आपको किसान क्रेडिट कार्ड से संबंधित संपूर्ण जानकारी दी है। यदि अभी भी इस जानकारी से संबन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा आप इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है,

तो आप ऊपर बताए गए टोल फ्री नंबर पर कॉल कर सकते हैं या फिर आप हमे कमेंट बाक्स में बता सकते हैं, हमे आपके प्रक्रियाओं का इंजतार रहता है।

 

आपके लिए हमारा आज का आर्टिकल “RBI ने बदले किसान क्रेडिट कार्ड के नियम उपयोगी रहा हो तो आप इसे अपने friends, relatives और social media platforms पर जरुर शेयर करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

6,791FansLike
6,391FollowersFollow
3,699SubscribersSubscribe

Latest Articles